HOLI aur VOTE - yodi dong

HOLI aur VOTE

होलि रंगो के उत्सव है। प्रकृति के  साथ हम भी इस रंग के उत्सव में शामिल होते है। बच्चे , बुजुर्ग और युबक युबती इस उत्सव में शामिल हो जाते है। रंग और आ बीर लेके  होली सुरु हो जाते है। ... होली हो छा रा रा रा....
होली की रंग मन में बस जाते है ,चेहरे से उठ जाते है एक ये दो दिन के अंदर ,लेकिनउसकी खूबी मन की गहरे तक पहुँच चुके होते है।

https://www.kakolib.com/2018/12/mukka.html

 बच्चे लोगो को अच्छी तरह नारियल तेल सर में लगा दो ,पूरा शरीर में मालिश कर दो ,रंग ये अबीर जल्दी ही उतार जायगा। ध्यान रखना कोई गंदे आदमी आपके बच्चे की मुह मे magender न लगा पाये। भीगी  कपडा में ,ज्यादा देर तक ,न रहे। रंग खुद बना दीजिये उनलोगो को ,हल्दी और मैदा मिक्स कीजिये इको  फ्रेंडली अबीर बन जायगा। मार्किट में ईको फ्रैंडली कलर भी आ गए,वह लाइए अपने फॅमिली के लिए। नहाने के टाइम में ,बेसन और दही की पैक से उनको नहाओ ,साबुन जाली की दादा गिरी बांध हो जायगा। घर में बनाई हुआ पकोड़ा खाने में दो उनको ,साथ में ठंडाई रूह ऑफ जा की।संगीत  बजआ ने वाला जब आएगा घर में.... उनके साथ इनको भी मिला दो ,आपने आप को सब के साथ महसूस करेगा वह। आपने ही तो शिकाय हो उनको ,कोई न बोले तो रंग नहीं देना। लड़कियों को जबर्दस्ती न करना रंग देने के लिए। पहले भगवान को ,बाद में पेरेंट्स को अबीर दो। फिर दोस्तों को साथ होली खेलो।  आये है --होली ,छा रा रा रा....... पिचकारी से रंग निकले फिनकी देके -----आबीर से भर जाते है पूरा शरीर----
Bouquet of Yellow and Purple Tulips
 फिनकी देके खून निकल रहा है ,इस आदमी की शरीर से। मोटर साइकिल से जब  रस्ते से जा रहा था ,तब और एक  साइकिल में दो मुहु ढक्के लड़का आये  और शूट कर दिए ,  आसमान की तरफ गोली चलाते  हुए !पूरा बदन आबीर से छा  गए नेता साब की और उनकी शग्रेद लोगो की। खुला जीप में नेता जी बैठा है ,वोट मांगने का दिन खरा थे हाथ जोर के और आज जितने के बाद , बैठा है साब। आबीर यहाँ भी लगते है ,एक दूजे के लगाने के लिए ,लेकिन ये है पावर की उत्सव ,यहाँ आम आदमी की मज़बूरी की शुरुआत है।
  भाई इसके लिए ज्यादा मत सोचिये ,इसका नाम ही जिंदगी है, सिंपल NICHE है। 

No comments

Powered by Blogger.