how to protect coronavirus - KAKOLIB.COM

how to protect coronavirus

          Coronavirus ki protirodh ke liye Jack Ma ki daan



Monster, Blue, Internet, Attack


चीन की वुहान से उतपत्ति हुआ एहि वायरस आज दुनिया भर में फहैल रहा है। एक बीमारी जो लोगो की नीद हरम कर दिए। दुनिया भर के सभी देशो को चकित और हैरान  कर  दिए। बहुत सरे क़ानूनी टायर तरीका लागू करना पड़  रहा है इसी वायरस को फैहल न रोकने के लिए।  एक असम लड़ाई सुरु हो गए मानव जाती की। एहि वायरस के नाम है कोरोनावायरस


कोरोनावायरस नाम किउ  

इसी वायरस की आकर में ये दिखाई देते है की ,परतें से बना हुआ क्राउन की तरह बहुत सरे होते है ,एकतो  इसी लिए इसे कोरोना नाम दिया गए। दूसरे ओपिनियन ऐसे है की पृथ्वी के ऊपर जो क्राउन की तरह लाइट दिखाई देते है ,बिलकुल उसी तरह इसी वायरस की ऊपरी भाग देखने में है ,इसी लिए इसको कोरोना के नाम पे बुलाय जाता। 

इससे पहले हम लोगोने सुना था ईबोला ,ज़ीका और मेरस वायरस  के बारे में ,जब एहि सरे वायरस फैल रहा था दुनिया में। जान जीबन  में महामारी के आकर ले रहा था ,पांच साल पहले। आज दुनिया को डरा रहा है और एकबार    चीन कोरोनावायरस  जिसको मेडिकली बता जा रहा है 2019 -nCoV ,ये वायरस आलरेडी १०० से ज्यादा को मार चूका है ,१४हज़ार के ऊपर मानव इसी की चपेट में है,दुनिया भर में।

सिम्प्टम  एंड प्रोटेक्शन 



कहते हैं कि संक्रमण के सामान्य लक्षणों में बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ और सांस लेने में कठिनाई जैसे श्वसन लक्षण शामिल हैं। दुर्लभ, अधिक गंभीर मामलों में निमोनिया, गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम, गुर्दे की विफलता और सबसे चरम, मृत्यु हो सकती है।एक्सपोजर के बाद लक्षण 2 दिनों तक या 14 दिनों में प्रकट हो सकते हैं।
CDC ,सेंटर्स फॉर डेसीसे कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन। जानवरो के प्रजाति मे सबसे ज्यादा एहि वायरस मिलते है।जब की उनका कहना है बहुत काम ह्यूमन, जानवर की द्वारा संक्रमित होते है।

लेकिन ये वायरस की स्प्रेड हो रहा है ,अभी मानव से ही। पर्सन से पर्सन इन्फेक्टेड हो रहा है। चीन की मिनिस्टर के कहना है -अभी ये वायरस टिपिकल कोरोना वायरस से, खुद को बदल लिए अपना चरित्र और स्वस्थाबन मानव को भी अटैक कर प्ा रहा है। ये नंबर 7 है वायरस प्रजाति में जो मानव जोबन को इफ़ेक्ट किये बहुत ही।

प्रोटेक्ट करने के लिए इस वायरस को हमे बहुत ही स्वब्धनी बरतना पड़ेगा। vaccine इसके अभी तक निकले नहीं। जब की साइंटिस्ट और फिजिशियन बहुत मेहनत कर रहा है ,vaccine को बनाने के लिए। ब्रिटैन की एक लेडी डॉक्टर सिर्फ दो घंटा सो रहा है ,इसी वायरस के ट्रीटमेंट निकल ने के लिए।

प्रोटेक्शन के लिए हाथ धाइये २० सेकंड तक सोप से। नक् में ,मुँह में हाथ लगाएंगे नहीं ,जब तक हाथ साबुन से न धोया। जंहा जयदा भीड़ होगा उन्हे से दूर रहिये। छींक आये तो हाँकी उसे करे ,हो सके तो मास्क यूज़ करे। चीन के अफेक्टेड एरिया में ट्रेवल मत कीजिये। हैंड सांइटिज़ेर यूज़ कर सकते हो। बहुत ज्यादा पानी पीना सुरु कीजिये। डॉक्टर की चेक आप में जरूर रहिये। खतरनाक कोरोनावायरस इसी तरह से कण्ट्रोल में आएगा।


कोरोनावायरस वैक्सीन


वैक्सीन और ट्रीटमेंट करने के लिए कोरोना वायरस की ,जैक माँ और उनका अलीबाबा ट्रस्ट ने डोनेट किये 1 . 44 करोड़ डॉलर। उनका चाहत है की ट्रीटमेंट फ्री मिले दुनिया को। जब की उन्हें येभी मालूम हाय बैज्ञानिको के पास बहुत काम समय है वैक्सीन कि, मोदी फिकेशन करने के टाइम है नहीं।उनका कहना है वह और भी डोनेट करने का कोसिस करेंगे।

चीन गवर्नमेंट अनुदान दिए है इसी के कारन 121 अरब युआन ,चिकित्षा को जोरदर करने के लिए। चीन के साइंटिस्ट ने सबसे पहले जो अच्छा काम किया वह है -उनलोगो ने फंड आउट किये की एहि वायरस के रुट कॉज क्या है और क्यासे हुआ। चीन की ऑफिसियल बहुत जल्दी डिक्लेअर किया इसी वायरस की जेनेटिक कोड और दुनिया भर में पब्लिश भी कर दिए।


सैन डिएगो में इनोवियो की प्रयोगशाला में, वैज्ञानिक संभावित टीका विकसित करने के लिए अपेक्षाकृत नए प्रकार की डीएनए तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। "INO-4800" - जैसा कि वर्तमान में कहा जाता है - इसके लिए शुरुआती गर्मियों में मानव परीक्षणों में प्रवेश करने की योजना है।हो सकता है की तीन महीना और लगेंगे मानव की ऊपर वही वैक्सीन टेस्ट करने को ,तब तक हम लोगो की लडाइ जरी रहे -इसी कोरोना वायरस के बिपक्ष में। जीत हमारे निश्चित करना है।

अंतिम अनुरोध

सोशल मीडिया आज काल बहुत ही वायरल ऑब्जेक्ट है। इसमें ऐसे कुछ मत लिखिए, ये पोस्ट कीजिये जो इसी मरण वायरस से लड़ाई को हल्का करदे, ये लड़ाई की असली कारन से हमे दूर ले जाये। facebook ,twitter, whatsap लड़ रहा है फालसे पोस्ट को मिटने में। हम और आप भी आइये जिम्मेदर बने ,और बसेलेस पोस्ट शेयर ये पोस्ट न करे। चाइना कोरोनावायरस बीमारी से लड़ाई सुरु कीजिये ,शारीरिक और मानसिक रूप से ,जय हो मानबता की........



No comments

Powered by Blogger.