Sunday, September 29, 2019

3 kanya of Hospitality industry

3 kanya of Hospitality industry
Image result for free image of women

                     3 kanya of Hospitality industry


Ye 3 kanya Rabindra nath Tagore ki kahani ki heroine nehi hay,lekin yeh bhi ledki hay aur hamere yis West Bengal ki hay.Me jab Kolkata me join kiye uske baad hi mujhe inke bare me janpaye.Kiu ki Kolkata me abhi bhi trend hay kitchen steward girls rakhne ki .Inme se 2 hay kitchen steward ki aur 1 hay Accounts head.Yehi 3 kanya hospitality industry ke bare me likh raha hu.

girls education in india


Bharat me women education aaj kaal barotri par ja raha hay .Education hi unko aap ne ander jo power chupe hay usi ka hadish unhe de sakta.Nehi to woh jaise soshit hota hay yasehi chalte rahega.protibeshi rashtro Nepal ki education shatangs to aur bhi kharub hay.
Neepa humare hotel ki kitchen steward hay.48 ke aas paas hogi uska umar.Aapna beta ko leke unki zindegi chalte rahete hay.

Read More Stories

Inha kam se kam 12 saal naukri kar rahi hay woh.aapna beta ko pal poske bara kiye,aaj woh ladka bhi naukri karti hay hotel industry me.Neepa ki husband 20saal pahele usko chor diye they.Janab daru aur ledki ke saukin the ,ek Neepa me man rahe nehi, usko chor ke dusre ek ledki ko shaadi kya.28 saal ki ek ledki aapne 4 saal ki bete ko leke ladna suru kiya zinda rahene ke liye .

Education tha nehi.Nepal se bhag ke is bande ko shaadi kiya tha .Bharosa kiya tha usko .lekin ushne chor diya Neepa ko,akele.pahele to kuch din isey,usey mangke chalaye,woh bhi jyada din nehi chala ,lok dena band kar diye.aab suru hua bhuka rahena.lekin khud bhuka rahe sakta ,aapne char saal ki bete ki bhuk sahen nehi paye .Fir logo ke ghar me kaam suru kiya.....

Humare yis hotel ke malik ek aurat hay .unke paas jab Neepa aaye kaam mangne ke  liye to unhone usko rakhliye .Do char awaz uthaya tha ki ek Aurat kyakaamkarega .M.D bol diye -aurat sab kar sakte hay, woh mere hotel me kaam karegi .kisi ko problem ho to woh chor ke ja sakta hay.sab chup hogaye they.Neepa yis hotel ki kitchen ki ek asset ban chuka hay .

girls empowerment

Ledkiyo ki ladai chal raha hay sadiyo se .Unko aagay badne me hum mard hi rok raha hay .Lekin sochna chahiye agar Girls empowerment ki develop nehi hua to samaj piche ho jayga .Samaj agar piche hota hay to desh bhi piche jayga.Unko agay badawa dene ke liye bahut sare karmsuchi har sarkar lete hay .Humare malik ne suru kiya cheese banane ki kaam ,aur woh cheese humare hotel mehi use hote hay .Hotel ki khane ki jo itna naam hay uska pichche yehi cheese hay .Gaon ki aurat, jinke paas koi kaam nehi unko humare company arthik madad diye Gay(COW)kharid ke uski milk hume dene ke liye.Usi milk se hote hay woh cheese.


Bank de raha hay girls loan,unko self supported karne ke karan .Aaj akeli Ma aapna bachcha ko asani se bada kar sakta hay .Neepa mujhe bola bhai may old age home se bate karke rakhkha ,aapna rahene ke liye . jab naukrichor dunga tab sidha jaunga old age home me ,agar beta mujhe nehi rakhne chaha to.

Bete aapne Ma ko bola -Ma aise kiu bol raha ho may tumhe kabhi nehi charung ga ,chahe kuch bhi ho jaye .wakei unke beta achcha hay bhi,fir bhi Neepa darti hay har mard se,aapne pati ki burai un sab me use dekhai deta.

Pahela kanya ke bare me aaj sunaye aapko,baki dono ki kahani agle baar.

Sunday, September 8, 2019

Hospitality Industry ki kahani,meri jubani

Hospitality Industry ki kahani,meri jubani

                 हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री  की कहानी ,  मेरी   जुबानी। 

https://www.kakolib.com/2019/09/hospitality-industry-ki-kahanimeri.html

Naye naye  New Delhi ki yis star hotel me join kiya maine,f&B manager ki .Energy bharpur tha ,kuch jyada karne ke liye .Naturally Md ki nazar me aaye the hum .Har srevice me Tapas ki jarurat unko aur G.M sir ko padna chalu ho gaye .Mujhe dayityo  deke nischint rahe sakte the woh .

jaise yisbar ek Mumbai se aa raha hay babaji .Umar 30 ke ander,lekin popularity bahut dur dur tak hay unki .Baba ji asan,pranayam aur aurvedic jodi buti se kamaal kar raha tha woh!Bidesh me bhi unki bhakt mandali hay.Babaji yis mahine ki pandraha tarikh se delhi tour me honge .

Humare M.D log(5M.D,unki 5 biwia,saath me 10 bachche)  unke bhakt mandali me aate hay.Hotel ki sabse sera suit unke liye booked ho gaye .Chandrama banquet hall booked hay Babaji jo anusilan karayenge uske liye .Harwakt paise,paise karne wala log bawaji,bawaji me transfer hogaye !Itne bhakt log aana suru huaa ki mujhe laga delhi Haridwar ho gaye !!!


Me chota sa saher se aaye hay ,Babaji ki entrance dekh ke chakit rahe gaye ,car ki convey,fulo ki har ki pahad aur ful ki pankhdiyo ki chirakna ,mujhey hayran kar diye .Jitne aaye sabhi ne safed kapda pahenke aaye,laag raha tha Ghadi dittergent ki ad chal raha hay .Babaji bakei sunder aur khubsurat tha,sabse badiya tha unke hansi.

Babaji ki hansi hi unka main USP tha .Mere upor tha babaji ki dekhval karne ki aadesh.paanch din ki safar tha unka .dusre din se hi me bahut nazdik aagaye Babaji ki .Dharam katha sunne ki layektha Babaji ki muh se .Kitna emotion jod ke woh bolte the .bhakto brind ki aankho kabhi aashnu ,kabhi khushi ki jhalak dikhai dete the .

Aamir gharane ki ladies log they sankha me bhari rakum.20/22 saal ke ledkiya bhar ke aate the.Hotel ki sale bar gaye .jo log dur se aaye woh romm booke kar liye the pahelei ,fir local aamir the dher sare .Babaji ki skin ki glow dekhne layek tha,sar me tha lamba,kaala ghana bal .unka khana pina tha dry fruits,milk aur veg khana.subhey 4am se asan aur pranayam karte woh.us time pe unka snan bagara complte ho jate hay .sardi garmi me ek hi routine unka. 

Babaji hume sikhay the pranayam aur asan fursat me,hum dono near about same age ke the .unhone mujhe bole they Ritha lagao bal me chamkane lagange bal .Bakei ritha use karke mujhe bahut aachcha result mila.Pranayam sikhaye the mujhe ,mere ander se gussa chale gaye .

M.d bola 'Tapas,babaji ki kirpa to tumhara upor pade hay,dekhna tumhara kismat chamak jayga .'Thik hay agar unke nazar se mera kismat chamke to bura nehi,me hansh diye halka sa,ye bhi Babaji se sikha ki hanshi kaise honi chahiye .Babaji ki comunication knowledge unbeatable hay .

Dhir aur ahista bate karna,halka sa hanshi,sar hila ke ha bolne ki kya kimat hay -woh Babaji ne sikhaya mujhe, jab babaji apna kamre me aram karte hay us time me .Woh chamat kari hay ye kabhi unhone nehi bola.Ye prediction tha unke bhakt jono ki !

Babaji ko chune ke liye kya kya pagal panthi harkate kar te the unko bhakt jon .Babaji halka sa hanshi ke saath sabke harkat avoid karte hay.Babaji ki jo manager tha(pradhan bhakt) woh Babaji ki room me sam ko kisi ko aane nehi dete ,Babaji jis suit me rahete uske samne unka  personal char security guard hote hay ,jo kisi ko nazdik aane nehi dete .

hotel industry


Humare hotel ki room aur restaurant ki sale bahut bar gaye inke hone pe .Kaal babaji ka teaching khatum hoga aur woh fir aapna ashram Mumbai pe wapas jayenge.Mujhe Babaji bola -Tapas,kaal Subhe 6 baje mera flight hay ,4 baje me niklunga,tum aa paoge janakpuri se utne subha ?G.M sir bola --Babaji Tapas aaj night stay karega hotel me.Aap check out karne ke baad hi woh ghar jayga.

Me Hotel me rahe gaye,wake up call lagaye reception ne mere liye sade teen baje.me kitchen ko bola Babaji ki sabhi room me bed tea poucha do jaldi jaldi.Ek room boy ko leke Garum paani,Honey ki bottle,ek kela aur chey pcs almond leke me poucha Babaji suit me.

Security wale kuch bole nehi woh log bhi ready hogaye ,-chay pia ,me pucha un logo ko .sabhi ne sammati janay,ki chay piliya.ander gaye suit ke ,awaz na karke room boy ko ishara kiya saman table me rakhne ke liye,aur fir ishara kiya use jane ke liye .darwaza bandh karke room boy nikal gaye.Bath room ki darwaza khula tuk karke ,awaz hua.Gerua kapda pahen ke nikla --Babaji-lekin a kya unka sar pura mundit hay---

kab unhone mundan kiya ?Babaji bhi chaunk gaye mujhe dekh ke,fir dhire dhire mere paas aaye aur haath pakda mera,dono aankh aashnu me bhara hay,honth unka kanp raha tha ,fir sunai diye Tapas
me pichle10 saal se ganja hu,mera bal nakli hay.manager ji ko sirf malum hay iske bare me ...me tumhe request.....

service industry


Me mamuli sa job karne wala banda hu.Hotelier logo ko kitna kuch raaz ke bare me malum hota,woh thodi hi jate use viral karne .Me unko bola tha --'Babaji me service industry me hu ,service ke alaba dusre kisi me mera interest nehi hay .'Haath pakde mere Babaji-"jab bhi kuch jarurat ho to phone karna".Pichle 17 years Babaji ko la nehi paye unke hotel me ,mere M.D log.






Wednesday, September 4, 2019

हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज के चमकीले सितारा


हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज  के  चमकीले  सितारा 


https://www.kakolib.com/2019/09/blog-post.html



ब्रिटिश  रूल्स में जो बुराई था उसकी अगेंस्ट में  भारतीयों  ने प्रतिबाद  किया।  किसीने  सत्य ग्रह की,तो किसीने अनशन किया ,किसीने प्रतिबाद की ,हाथ  में लेके बन्दुक। हर कोई अपना प्रतिबाद किया  था,अपना तरीका से। हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज के सबसे आलोकित नक्षत्रो की जनम हुआ ,इसी प्रतिबाद के रूप में। ब्रिटिश  के निर्लाज और अमानबीक  कानून को झटका  दिए  थे।

Nusserwanji मुंबई के वाट्सन्स होटल्स में गए थे ,लेकिन उनको घुश  ने नहीं दिए। WATSONHOTELS था यूरोपियन गेस्ट के लिए ,इंडियंस अरे नॉट अल्लोवेद  !अब  है - NUSSERWANJI की प्रतिबाद करने की शुरुआत। उन्होंने मन ही मन तैयार हुआ एक होटल बनाने को। जो  बढ़िया होगा मुंबई में। लंदन ,पेरिस ,फ्रांस में से  खुद जा के सामान पसंद करके लाये थे ,होटल को सजाने के लिए।

1903 के 16 दिसम्बर सुरु हूआ -Taj Hotels मुंबई में अरेबियन समुन्दर  के सामने,  NUSSERWANJI  होटल मालिक होने के लिए होटल नहीं बनाये थे ,मुंबई में लोगो को attract करने के लिए और मुंबई को पॉपुलर करने के लिए होटल business  में उनका प्लान था। अब तो आपको मालूम हो गया की उन का पूरा नाम--Jamsetji  Nusserwanji Tata उनका नाम है। भारत कि कामयाब   बिज़नेस मैन में गिना  जाता उनको,और सिर्फ भारत ही किउ पूरा बिस्वा उनको जानते है।

में होटल इंडस्ट्रीज के साथ जुड़ा हु इस लिए उनका हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री की ऊपर जो दान है उसका ही चर्चा करूँगा ,वह भी मुझे संका है कि में  कितना सही सन्मान जनक भाब में  उनके बारे में बता पाऊँगा। वह इतने बड़े है और में इतना छोटा हु डर  लगता की कही कुछ चूक न हो जाये !एक बिशाल सामरज्यो की  सुरुवात हुआ मुंबई समुन्दर किनारे से।


हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में जमशेतजी टाटा ने अपने Tata ग्रुप को उतारा। शुरू हुआ ताज ग्रुप की। होटल चैन बनाना  वह शुरू किये। मुंबई ,दिल्ली,चेन्नई ,बैंगलोर ,हैदराबाद और लास्ट में कोलकाता। सभी मेट्रो सिटी में ताज ग्रुप की होटल है। कोलकाता में बने सबसे लास्ट में --1989 में ,होटल ताज बंगाल नाम है उसका। ताज ग्रुप एक अकेले ग्रुप है जो सभी मेट्रो सिटी में अपना होटल चैन बनाया। 

Taj ग्रुप शुरू किया था रॉयल पैलेस को होटल में कन्वर्ट करना 1970 में। उदयपुर का लेक पैलेस ,हैदराबाद की फलक नुमा  पैलेस,जयपुर का रामबाग पैलेस,उम्मीद भवन पैलेस योध पुर के। इन सभी पैलेस को रॉयल होटल में परिणत किया टाटा ग्रुप ने। एक होटल जो 5 किलो मीटर लम्बाई में है ,आप सोच सकते हो उसकी मैनेजमेंट कितना स्मार्ट है ? फोर्ट अगुडा बीच रिसोर्ट गोवा के सबसे पहला इण्टरनॅशनली ५स्तर डीलक्स बीच रिसोर्ट है,शुरू हुआ 1974 .. 

1980 में ताज ग्रुप शुरू किया इंडिया के बहार होटल बनाना। Taj Sheba Hotel तयेर हुआ yemen की sana में। Taj 51 बुकिंग होम गेट सुइट्स। Taj group  शुरू किया वाइल्ड लाइफ lodges की लंदन में। ताज ने हॉस्पिटैलिटी सर्विस को सर्विस इंडस्ट्री में मशहूर कर दिए। इंटरनेशनल  बहुत अवार्ड इनको मिले हैं इनकी  -सर्विस,hygine और मेंटिनेंस के कारन। किस्मत वाले वह है जो टाटा ग्रुप में सर्विस करे। 

IHCL टाटा ग्रुप की होटल मैनेजमेंट कॉलेज है जो 4 साल के होटल मैनेजमेंट पढ़ाते है ,UNIVERSITY OF HUDDERSFIELD,यूनाइटेड  किंगडम  की एजुकेशनल सपोर्ट से। टीम में ज्यादा से ज्यादा होते है HOTEL MANAGEMENT  बैक ग्राउंड की। एक्सपीरियंस और एजुकेशन की मेल बंधन से जो स्टूडेंट निकलते है वह अनमोल होते है हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लिए। 

'लीडिंग होटल्स ऑफ़ थे वर्ल्ड' की 10 मेंबर्स में से टाटा ग्रुप नंबर one  है। 116 साल के अंदर ,इनकम है ताज ग्रुप 100 होटल्स बना चूका। 15 मिलियन डॉलर के आस पास इनकम है इस ग्रुप की। टोटल रेवेन्यू है 600 मिलियन के बराबर। भूटान ,मलेशिया ,ज़ाम्बिया,UK,USA,UAE,श्री लंका ,साउथ अफ्रीका ,नेपाल में ताज ग्रुप की होटल है। 13000 हज़ार से भी ज्यादा लोग काम करते है ताज ग्रुप ऑफ़ होटल्स में। 

ताज ग्रुप सर्विस इंडस्ट्री को एक  रेस्पेक्टेबले इंडस्ट्री में परिणत किये। होटल इंडस्ट्री ,हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के साथ समो गोत्रीयो होगये इनके ज्ञान,मेहनत और उच्चाकांक्षा के कारन। ब्रिटिश को उन्होंने आपने तरीके से सिखाया की इंडियन कमी नहीं है उनके बरा बोरी में। एक क्वाताशन उधर लेते है हम और कहते है इनके बारे में ---'FROM PARSEE PRIEST TO PROFITS 'ताज ग्रुप के 
बारे में सही लागू होता है। 





Wednesday, August 28, 2019

motivation and emotion of a hotel industry staff

motivation and emotion of a hotel industry staff


motivation and emotion of a hotel industry staff. 

एक होटल उद्योग के कर्मचारि की प्रेरणा और भावना.


-'सर ये मेरा क्या हो गये सर ? बिरजू रोते हुआ पूछ रहा है मुझे।
-'आ रे ,बिर्जु रोना बंद करके येतो बताओ ,हुआ क्या?'
-'सर ,मीता को ब्लड कैंसर हुआ ,डॉक्टर बोल रहा है'...
बिरजू मेरा जूनियर है ,इस होटल में। में कोलकाता के इस इटलियन होटल में काम कर रहा हु पिछले चार साल। होटल इंडस्ट्री में बहुत ही नाम कमाए है ये। पैकेज अच्छा ,सबसे बड़ी बात होटल चलता है फोरेनर मालिक कि बनाया नियम में ,जो की फॉरेन कंट्री में लागु है ,उसकी तरह ही।



बिरजू की बीवी पिछले हप्ते से बुखार में भुगत रहा था। नर्सिंग होम दिए थे ,डॉक्टर बोले पहले की डेंगू हुआ,ब्लड सेल कम होगये। ट्रीट मेन्ट चालू किया ,डिटेक्ट हुआ ब्लड cancer जैसे खातिर नक् बीमारी।सुनते ही बिरजू टूट पड़े। दो साल की बेटी भी है उन दोनो की। साथ में बुजुर्ग माँ और बाबूजी। मीता diagonosis सेण्टर में काम करता था।

बिरजू की फ्लैट है कोलकत्ता दक्षिण में। मेरे ज्वाइन करने से पहले ही उसने शादी किया था। जोड़ी खूब सूरत है ,जिस कारन उन्दोनो के बच्चे भी बहुत ही सूंदर है। बिरजू सदा हंसमुख था ऑफिस में। मीता की मई के है ,कालीघाट की तरफ। माँ,बाबा है नहीं। एक भैया और भाबी है उसका।



service industry की लड़ाई


बिरजू दूसरे दिन ही ऑफिस आये। हम सब G.M को रिक्वेस्ट किये उसकी छुट्टी के लिए। में रिस्पांसिबिलिटी लिए हमारे डिपार्टमेंट की। बिरजू को खुलि छूट दिए कि वह हॉस्पिटल की काम ख़म करके ही ऑफिस आये गा रोज़ ,मेरे ड्यूटी के बाद भी में ऑफिस में उसका काम कर दूंगा। पैसे की हेल्प हम सब आपने सैलरी से करेंगे। M.D भी दिए अच्छा रकम ट्रीटमेंट के लिए। जब भी उसको जरुरत पड़ेगा वह हॉस्पिटल में जा पाएगा।

                              खून की  जरुरत पड़ता है ,इस बीमारी में जल्दी जल्दी। उसका इंतेजुम के लिए बहुत सरे ब्लड डोनेशन कार्ड जुगाड़ करदिया गया। लड़के सारे ब्लड डोनेट भी कर दिए। पोची बना के देता था हॉस्पिटल वाले और बिरजू भागता था ब्लड बैंक में ब्लड के लिए। फिर एक बाल्टी में बर्फ  की पैकेट रख के और उसके बिच ब्लड के पैकेट रख के ले जाना पड़ता था। फिर वह ब्लड चढ़ाये जाता ,मीता को। 



में बिरजू को बोलै था -बिरजू ए लड़ाई  तुम्हारे और तुम्हारे बीवी की। आश छोड़ना नहीं। डॉक्टर लोग लड़ाई कर रहा ,साथ में तुम दोनों भी करो। फर्स्ट स्टेज में पकड़ा गए बीमारी ठीक हो जय गा। खाना पीना छूट गए थे बिरजू की ,आपने बीवी को बचने की लड़ाई में। उसकी दो साल के बच्ची की देखभाल करता था उसके माँ और बाबू जी ने। छोटी सी बच्ची पूछते थे -'बाबा ,माँ कब आये गा,कितने दिन देखे नहीं माँ को?'


बिरजू ऑफिस में आके  मुझे बताते थे और रोते  था। फिर हम हिम्मत देते -'बिरजू रो मत ,ESI sanctioned  कर दिए। कैंसर हॉस्पिटल में भर्ती हो गया। Dr. गुप्ता बहुत ही नामी  है इस बीमारी के ट्रीट मेन्ट में ,ठीक हो जायगा'। ठीक हो जायगा सुनके बिरजू मेरे तरफ देखता था। -'आबे ठीक नहीं हो गए तो हॉस्पिटल भेजा किउ ,मरने के लिए ?चल जा काम में लाग जा'। में भी पूरी तरह बिस्वास नहीं कर पता था की ठीक हो जायगा  मीता। 



ट्रीटमेंट चालू हुआ ---कोलकाता दक्षिण के ये cancer हॉस्पिटल फेमस है।पूरा भारत से पेशेंट आते इंहा। तरह तरह के कैंसर पेशेंट है इन्हा। केमो देना डॉक्टर चालू किये ब्लड देने के बाद से। धीरे धीरे मीता  के बाल सरे झाड़  गए। आपने बच्ची को मिल ने के लिए रोटा था। डॉक्टर सीधा न बोल्दिए। दो साल की बच्ची भगवन के तस्बीर के  आगे बोलता था माँ को घर भेज दो जल्दी ,जल्दी। त्रेअत्मेंट में असर आना चालू हुआ। और पूरा साल भर के बाद उसको डॉक्टर घर भेजा। हर महीना विजिट करेगा जरूर हॉस्पिटल को। 

बहुत सरे दवाई और नियम के साथ उसको भेज दिए घर। घर में आपने बेटी को वह टच नहीं करता था। बिरजू को नज़दीक आने नहीं देता ,--कहता चेमो की जहर मेरे सरीर में है ,कोई नज़दीक नहीं आओ गे। 
--'बेटी कहता था ,-माँ एक  बार तुम्हारा हाथ टच करू?
मीता jesus को  बिस्वास किया बीमारी के समय ,उसको हिम्मत और ताकत मिले थे उनसे। अब उनको भी आराधना करता है। फ़ोन में मैंने उसे बोलै था --मीता ,रिकवर करने में थोड़ा टाइम लगेगा ,लेकिन हिम्मत रखो खुशिया जरूर लौटेगा। धीरे धीरे उसका हेल्थ ठीक हुआ। सर में बाल उग रहा था फिर से। नार्मल लाइफ में फिरसे सेट हो रहा था बिरजू,मीता और उनके बच्चे। बिरजू की मम्मी और पापा भी चयन प् रहा था। 

हैप्पी एंडिंग ----आज फिर बिरजू और उसकी फॅमिली नार्मल लाइफ लीड कर रहा है। में जान पूछ के उनके नाम चेंज करके इसे लिखा। में देखा था बहुत दिनों तक बिरजू की घर में उसकी रिलेटिव कोई,कोई पानी तक नहीं पिटे थे। मीता  की बनाई हुयी खाना नहीं खाते  थे। डर और अज्ञान हमे कभी कभी मानबिकता भुलवा देते है। डर स्वाभाबिक  है, लेकिन उसे हबी  नहीं होते देना ,नहीं तो जिंदगी की मजा निकल जाते है। 

 बिरजू की बेटी आज छे साल हो गए ,मीता की बाल फिर से लम्बी हो गए। बिरजू एक स्कूटी ख़रीदा ,आपने बीवी और बच्ची को लेकर घूमते है। डॉक्टर के पास अभी तीन महीना में एक बार जाना होता। डॉक्टर साब देखते ही कहते उसे -आरे मीता घर जाओ अब छे महीना बाद आना ,अब तो ठीक हो गए हो !!!!!






Saturday, August 3, 2019

Hotel Store Manager Responsibilities

Hotel Store Manager Responsibilities

 Store Manager Responsibilities

Ek store manager report karte hay apne hotel ki G.M ke paas.store manager ko help karne ke liye hote hay store keeper aur assistant store keeper.Chota sa unit inke,lekin responsibility bahut hote hay.Day to day operation support dete hay store.Purchase, stock aur distributation ye ni ki issue,  store manager's ke responsibility hay.

https://www.kakolib.com/2019/08/hotel-store-manager-responsibilities.html
Hotels store ke staff bhi ladies aur gents koi bhi ho sakte.Through requsition ke store goods distribute karte,purchase order ke through purchase karte hay.bill receive karte proper file up karte aur sabse jyada karte hay inventory.Pahele manualy kar lete hay aur fir total manual work ko system me dal lete hay.F&B controll kiya jate hay inha se bhi.

1)Responsible for food and bevarages stock aur saath me daily operational stock ke bhi.

2)Responsible for daily storage facilities and hygine maintain.

3)Responsible hay jo requirements hay uski saath jo receive kar raha hay woh milna chahiye.

4)Damage goods, brand less product aur less quantity notice kare aur receive na kare .

5)Jo requisition aaye hay woh HOD ki sign ke saath aaye ki nehi woh bhi check kare .

6)Proper entry hona cha hiye store register aur computer system me .
7)MMS -material maintenance management ke through store maintained ho.

8)FIFO -first in first out aur LIFO-last in first out ki system manna chahiye,sakti ke saath.

9)Goods ki batch number aur expiry date register may har month maintain karna hay .

10)Perishable product ko jyada dhyan dena hoga,jaise meat,fish,sea foods,dairy product.

11)Regular physical inventory hona chahiye,aur report karna chahiye FC ke paas.

12)Sabhi bills aur challan ki entry store me hona chahiye aur fir woh bills FC ke jama kare,store bills jama karne ki documents jarur rahe.

13)BIN card product store ke  liye use kijiye.Aap na bhi ho to, naya koi musibat me padenge nehi.

14) Breakage aur expiry, store ke bahar feke FC ke nazar dari me.

Aap ye sare maintain karte ho to sunam ke saath aapna job nibha paoge .store manager ki responsibilities aache tarah pura karoge .5 digit ki salary aapke liye mamuli bate hogi.Ab kuch experience share karte hay aap logo ke saath.

Tab me job liye they store in charge ki,nau ghanta duty hours uske baad sidha ghar.Ek foreigner lady ke, restaurant hay a.store ke assistant they Bengali ek ledka.Usdin duty pouche to dekha restaurant ki owner aa chuke,kitchen me chilla rahi hay,typical purane jamane ki tarah,man me thoda sa taklif hua,kaha new delhi ke star hotel management ,kaha ye owner---

--'you know I want Breast boneless chiken for this polo menu,140 grams to 180 gms per pcs weight,but this is 250gms and its not a breast pcs, I need breast, breast and she shows her own breast.........
usi deen se pata chal gaya tha Delhi 
bakei bahut dur ho gaye.


Dusre incident hua,kuch dinpahele,yis 2019 ki hi ghatna hay.Nami company ki aache brand(?) ki Maida lete hay hum.Maida strain karne ke samay chote chote safed kida dikhay diye.Complain kiya distributor ko,unha se kisi lady ne phone kiya--'
--'sir photo bhejiye kida samet maida ki.'
Idhar kitchen chilla raha hay maida na milne par,maine aapna assistant ko market bhej diye,dusra bakery maida uthane ke liye .unha G.M tension me pad gaye, satur day evening waiting hota humare restaurant me...

Phir phone aye ,maida abhi tak aaye nehi..'sir aapne jo photo bheja usme kida sare thik se dikhai nehi de raha hay'nami brand ke lady hay,me pagal ho raha hu maida ke liye aur ye abhi phone karke puch raha hay kida ke photo thik nehi aaye?
--'aaray ,Madam,thoda wait karo..make up man bulaya maine ,aane wala hay...make up  karke unki photo bhej raha hu'.

Usidin se woh nami brand ko black list kar diye humare restaurant 
ne.New year me itna brochiure bhej te hay bade bade dinga marke,product ghatiya hay,responsibility lena nehi cha hate hay.Kahete hay walnut to mera product nehi hay?may kaise bolu ye kharub ha ye aachcha!Me pucha tha .'.payment aap lete ho- ki us ped ke niche, janha se walnut ate hay unha daba dete ho?'

 Koi, koi vendors aise irresponsible bate kar sakte hay,lekin hum log kar nehi pate,kiu ki hotel store manager responsibilities naam ke ek chheze  hote hay,quality product deliver dena.Hope jo Hotel industry me aapna carrier banane ja rahe ho unke liye ye  knowledge kaam me aayega.








Friday, July 19, 2019

Both sides of coin .

Both sides of  coin .
Both side of the same coin .



शिव नंदन चुघ- हमारे होतेल की चीफ आकउंटेंट है। में और शिव जी एकी उम्र  के थे। हमारे होटल है पश्चिम डेल्हीके इस कम्युनिटी हॉल के पास ,शिव जी के घर था सुभाष नगर में। हम दो चार बार उनके घर गए थे। शिव जी की पिताजी भी अकाउंटेंट की जॉब करतेथे ,माँ और उनका बीवी ठी हाउस  वाइफ। अपना माकन था उनका सुभाष नगर में। शिव जी की बीवी प्रेगनेन्ट थी।
https://www.kakolib.com/2019/07/both-side-of-coin.html
शिव जी को देखते ही आपको आपने आप रेस्पेक्ट आएगा। शुवे ऑफिस आते है नाहा के ,माथे पे लाल टिका लगा के। क्लीन शवेद होते है वह। बहुत धीरे बाते  करते है। कभी गुस्सा देखे नहीं। किसी के भी एडवांस ये लोन चाहिए तो सिद्धा शिव जी के पास जाते है और वह कोई न कोई हल निकल देते है। आज सुभे आठ बजे शिव जी ने फ़ोन किये। पूछे कितने बजे ऑफिस आ जाऊंगा ?



में तीन सरे तीन बजे ऑफिस आ जाते है ,और ऑफिस से घर वापस होते होते रात के दो बजते है। ये तो शिव जी को मलूम है फिर भी जॉब पूछा, तो कारन कुछ होगा ही। -"आप कितने देर में ऑफिस पोछोगे ?"
उन्होंने बोलै -"आधा घंटे में ".
-ठीक है ,में दस बजे ही आ जाते हु।


दस बजे- ऑफिस पौहच गए में ऑफिस में। शिव जी को फ़ोन किये -"सर आजाओ ,में पहुँच गए।"थोड़ी देर में शिव जी आगये मेरे ऑफिस में ,कॉफ़ी बोलै था में,कॉफ़ी पीते पीते ,में पूछा -क्या बात है शिव जी ,कोई बड़े गोलमाल ?
शिव जी बोले -"सर,चोरी हुआ ,रेस्टोरेंट में। बहुत दिनों से चल रहा था ,काल पकड़ में आये। "में उनके तरफ देखने लगे तो उन्होंने फिर बोले ---"होम डेलिवरी के कॅश सेल को कार्ड में दिखा के ,कॅश जैब में ले लिए।"
-'कौन है सर इसमें?"
-सर ,कॅश के लोरिना और एकाउंट्स के चटर्जी है  !लोरिना कॅश उड़ाया और चत्तेर्जी उड़ाए बिल।
-और कोई है ?
-सर,मेरे नज़र में तो है नहीं ,फिर भी आप थोड़ा छान बिन करो।
-जी.एम् सर को बताना पड़ेगा पहले। सर आये क्या ?
--थोड़ी देर में आ जाएंगे,काल की सी सी टीवी चेक करो सर ,दो बजे की। ...
चेक किये तो दखाई दिए ,की लोरिना हाथ में मुठ्ठी करके रूपया लिए और फिर आपने ब्लाउज में डाला। राठोड  सर के पास गए  शिव जी  और में। सर को डिटेल्स में सब  बताये। फिर सी सी टीवी के फुटेज भी दिखा ए। सर बोलै -"पहले लोरिना को बुलाओ।"थोड़ी देर में लोरिना आये।
सर ने सुरु किये,- लोरिना काल सात हज़ार के एक कॅश पेमेंट में होम डिलीवरी था ?
-कौन सा होम डिलीवरी सर ?
--ज्यादा स्मार्ट होने की जरुरत नहीं है ,सात हज़ार के डिलीवरी एक ही था। उसे तुम कार्ड में दिखाई  हो। और कार्ड की सेल को पूरा गयेब ,कर दिए ?
--नहीं सर,ऐसा कुछ नहीं ,हो सकता है मिस्टेक करके कॅश को कार्ड दिखा दिए। ...
--तो फिर कॅश कहा है ?
--नहीं मतलब--
--लोरिना ,सर बोले ,आज अभी तुम निकल जाओ होटल से ,न तो तुम रेसिग्नेशन दोगे ,न तुम्हे हम फायर करेंगे।
लोरिना रौ पड़े ,सर में....
--कुछ मत बोलो ,सीधा निकल जाओ ,नहीं तो पुलिस आएगा ,कोर्ट केस होगा ,बदनामी होगी।
--सर। ... कुछ बोलने की कोसिस की लोरिना। ....
--सर बोले ,मुझे कुछ सुनना नहीं ,शिव लोरिना की 34 देस के एब्सेंट विथ आउट नोटिस के होते ही ,तुम इसको नोटिस देना, . अब इसके जुडी देर चटर्जी को बुलाओ। ...
चटर्जी का हल भी सैम हुआ। सर अब मुझे बोले-- भत्ता तुम्हे आधा घंटा देता हु, गेम प्लान रेडी करो ये चोरी रोकने की।
होटल इंडस्ट्री में खाना ,दारू और पैसा बहुत ही आसानी से मिल जाते है। बेशक आप बैंक्वेट ,बार ,रूम ,ये रेस्टोरेंट पे काम करो। ऐसे नहीं की होटल वाला प्रोवाइड करते है , फ्लिकिंग से   दारू और पैसा जुगाड़ करते है स्टाफ,सभी नहीं ,फिरवी ज्यादा ही ऐसे करते है। चोरी रुकना ही है। और तरीका है ------

 4 बजे ब्रीफिंग के टाइम पे रेस्टोरेंट पे सबको बुलाये ,स्टुअर्ड,कप्तान इवन सीनियर कप्तान को भी बुला लिए में।शुरू किया मैंने --आज एक  चोरी करने की टीम  शिव जिकी बजा से  पकड़ा गए ,होटल की कमाई के  साथ में आप लोगो के कमाई भी लुटते  थे ,किउ की उस रेवेनुए के साथ आप लोगो के टिप भी होते है। उन दोनों ने सिर्फ आपने लिए सोचे ,पिछले छे साल की जमा पैसे भी रुक जायगा उनके। घर  वाले को क्या जवाब देंगे वह?
---आज से इस  नियम लागु  होगा -नम्बर  एक -बिल फोल्डर हमेसा  खली रहे गा ,गेस्ट के टेबल से आने के बाद। कोई पुराने बिल अगर उसके अंदर कप्तान  को मिला तो  एक पॉइंट डेबिट होंगे उस स्टुअर्ड की जो सर्विस किये थे।
नम्बर दो अगर मेरे चेकिंग के टाइम मुझे बिल फोल्डर में पुराने  बिल मिले गा तो - सीनियर कप्तान ,कप्तान और स्टुअर्ड की एक पॉइंट करके सबकी टिप्स डेबिट होंगे।  कोई भी बिल अगर दस मिनट से ज्यादा टाइम पे  होगा तो केशियर उसकी एक पॉइंट टिप्स  खोएगा। चोरी एनी की गलत तरीके की कमाई आपके सुख,चयन  और रेस्पेक्ट को हानि करेगा ,इससे दूर रहिये !

मई जनता हु की अच्छे  लोग संख्या में ज्यादा है दुनिया में ,कुछ बुरा  लोगो की लिए आपने अच्छाई दबा मत दीजिये। हमारे नज़र आज से और ज्यादा रहेगा आप लोगो की ऊपर ,अच्छा रहिये ,सन्मान से जीते रहिये।

ऐसे कंट्रोलिंग सिस्टम के सहारे में ,मैंने सभी होटल को चला ते थे। और अभी इस तिस साल तक मेरे नौकरी लाइफ में दुबारा कोई चोरी न हो पाए। इसको कभी मॉडिफिकेशन  की जरुरत पड़े तो किया मैंने। लालच से दूर रहना होटल मैनेजमेंट की एक शिख है। में जब ये सरे काम कर रहा था शिव जी मेरे साथ थे ,उनका मुँह बिलकुल शांत था।

होटल इंडस्ट्री की जब करके मैंने आदमी की अजीब सा कैरेक्टर  देखे है ,लोरिना ,चटर्जी के साथ कितने  अच्छे टाइम बिताये ,लेकिन कभी सोच नहीं पाए ये दोनों चोर है!दोनों के जाने के बाद ,जब स्टाफ डाइनिंग में जातेथे तो ,दोनों की कमी नज़र आता था। आपने घर से भी ज्यादा टाइम हम ऑफिस को देते है ,अनजाने में स्टाफ एक दूसरे की हमदर्द हो जाते है। लेकिन इसमे भी एक दो अलग रहे ही जाते है। ......

 Mr. चुघ होटल छोड़  दिए इस साल --- बैंक्वेट  की चार पार्टी की पेमेंट जो बैंक में जमा होते थे वह जमा हुआ नहीं  ,पेमेंट जमा  करते थे Mr.chugh ...





Tuesday, June 18, 2019

Hotels near me

 Hotels near me

                           

https://www.kakolib.com/2019/06/hotels-near-me.html Hotels near me

Esplaned chor ke agay aur aa jaiye,sidha chala aaiye Yis street ki taraf ,har saal janha pe 25th December lakho log sirf paidal chalne ke liye atey,(https://www.kakolib.com/2018/12/25th-december-kolkata.html),ji unha,us raste me ghush jate hi samne dikhai denge humare hotel!Room,restaurant ,Bar,swimming pool majood hay,aapke seva ke liye.Hotels near me ke search may, a best of the best hotel hay.Isi kahi ek ghatna share kar raha hu aap sabke saath.

 Hotel me 5 tarah ka chori hote hay,ji ha sehi pad raha ho.Aaj is 5 tarah ke chori  ke  bare me jaan lo.Pahela chori hote hay Banquet hall me ,Party me se Wine,beer ,whisky aur food chori hote hay khul ke ,Rokna muskil hi nehi ,na mumkin hay,Being a banquet Manager aapka managary ka pahela balatkar inha hote hay,Guest aapko dhoke jate hay payment ki time pe!

                    https://amzn.to/2M11paT (Agar amazon se kuch kharid na hay to click kijiye)

Dusra chori,Production yeni ke kitchen staff karte hay.shift khatam hua,staff jarahe hay ,back office se,security check karke chor raha hay ek ek karke.Sahu ji,commi1,jane lage to --security incharge Ram ji bole-aa re sahu ji,ki baat hay,dur se kiu ja rahe ho nazdik aao,Sahu bole--Ram ji pet me garbar hay subha se,ek baar bathroom jana padega staff room me.Han,Sahu jao jaldi,pet tumhara fule hay na,dikhai de raha hay bhai ,aajao check kare pahele aapko....Sahu bole, jane dijiye na,halka hoke aate hay,phir check karna...lekin Amrit ram chore nehi usko,check kiye to t shirt ke niche se nikla ,3 liter ki oil ke pouch,pet fula tha isliye, aur do pouch nikle,do payer ke calf se,ek ek pouch bandhe the koi sare rubber band ke saath.Suspend for seven days and cut his tips point also.

Hotels near me - 3no ke chori hay-room chori.Night stay ke liye walking guest aaye aur unko room diya gaya.subhey guest nikal jate aur Reception aur service staff ke mile juley kahani me room revenue chori ho jate.Hotel ki khata chorke staff ki account me aa jate.abhi ye kahani thoda kam hua,kiu ki hotel management naya software use kar raha hay,har room ki occupency ko jaanch karne ke liye.


4 no ke chori hay,bar aur restaurant staff ki.In janabo ne chori karte hay bada kala se.Wah ,kya dimag hay bhai logo ki.Restaurant manager ye bar manager duty me rahete hua unko pata nehi lagte steward ne kya kar diye?aap dekhenge ki ek table check out ho gaye payment deke,Guest ko good by karna,table clearence aur ready karna hogaye,bill folder side station me rakh diye perfactly.Ab koi ek table aaye aur food ye drinks ki order same tha,dhyan se dekhiye eye contact hua cashier ke saath,adha ghanta baad guest cheque yeni bill mangey-baas,jatan se rakhkha hua bill folder us table me chale gaye,jiske andar rahete hay wohi purana bill.Khel te hi 1000rupiya kamai ek ek ki,koi senior captain,steward aur cashier, player hote hay is game ki!

This is my town hotels ,Yis industri ke sabse bada chori hote hay management ki taraf se.Over time na dena,bonus kam dena aur daily sale ko manupulate karna inka roz ka kaam hay.Itna sab kuch hone ke babujud hotel ek great industry hay.Aapke rahene ki sukh,khane ki khushi aur hotel ko visit karne ki anand aadim kaal se available hay.

 Aaj itna tak,aacha lage to comments karna,aapke comments ki intejar me hu.









Thursday, June 13, 2019

Hotel kitchen

Hotel kitchen
                 
            Hospitality Offered To Every Laborer kitchen


 Aap, soch me honge a heading  kya hay?Iska matlub hay kya? ye bada maze ki cheese hay,dhire- dhire aapke samne hum ise unmukt karenge ......

Hotel kitchen me round dete bakt,humesha ki taraha me bola,"Anthony,mera bhai,mera dost"-kitchen steward Anthony Gomes bola-"namaste sir",Kitchen me do naye ledka dekha maine,pucha -"kaun hay bhai ye dono"?
-"sir,Nepal se aaye hay,ye dono,kitchen ke liye",Anthony ne reply diye.
-Kya naam hay aap ke?ek ko pucha.
-Binod Thapa.
 Dusre ko pucha --Aur aapka naam?
Thoda dubla,patla hay ye ledka,--Khim Tumkhewa.patla sarir lekin awaz to bhari he yaar!
Baad me pata chala Madam ye dono ko Nepal se import kiye?Mam bich bich me Nepal se staff import karte hay,Jab unko lagte hay ki, All Indians are t.........????Desh bada na Family bada ?Mere zindegi me humesha family bada hi rahe gaye,pata nehi kab mere paas Desh bada hoga?aap logo ke paas to Desh hi bada hay,mujhe malum hay,aap thode hi mere jaisa ho.

https://www.kakolib.com/2019/06/hotel-kitchen.html
Hotel kitchen
Kuch hi dino me pata chal gaye ki dono ledke hi mehenti aur responsible hay humare hotel kitchen ke liye.Lekin dono ki hindi bolna aap sunte hi- aapna Pitri deb ki naam bhul jaoge!wah kya hindi  boli hay unki?Lekin yehi Khim kuch hi dini ke ander humare hotel me naam kama liye, uski smart phone ki upor smartness ki waja se .Bahut logo ko usne help kiye unka smart phone thik karne ke liye .Aur sabse pahele jinka naam aata hay woh ye nachis hay!

Khim ka aankh ka problem tha,senior captain ne hospital le gaye the uski treatment kar wane.doctor ne bola woh uski right aankh se jindegi bhar kam hi dekhega,woh aankh thik nehi honge.Par kya batau aap ko us ek kharab aankh ke waja se phone thik karne ke time aapna aankh ke paas woh phone latey,aur fata- fat software instruction follow karke,phone aapke thik kar dega.

                                            https://amzn.to/2M11paT

 Aajkaal khim ,job kar raha hay,Netherlands me,Hotel Kitchen ki chef the party hay woh,unha ke.Facebook me interact karte hay hum log.Bolna bhul gaye hum,jab Khim photo post karte they facebook me aur like milte hay usey-120 ye 125 ?Profile me usne naam diye the --Abhagi khim tumkhewa!Ussey ye sikh nehi paye hum,6feet ke lambai,44 inch ke chati,aur aachcha sa much leke bhi mere photo like pate, sirf 40,Dhikkar hay bhai jindegy me,chi!Aap me sey kisi ko agar malum hay ki jyada like kaise miltey to-please mujhe sikha dena,mera email may de dunga...tapas1964andul@gmail.com.

Ab aate hay Khim join karne ki,  tisre din ki ghatna ke saath --Office aane me Khim aur Binod ki koi let nehi hay,Morning ki Mis-a-plas chal raha hay kitchen me ,sabji aagaye, usko potassium permanganet se dhoke Hygine maintain karte hay hum.May store me busy hoon,excise register maintain karne me.Dusri taraf dhyan hay hi nehi,Chay de gaye the,lekin woh bhi thanda ho raha hay.pine ka mauka nehi miltey.Mere paas Kitchen requirements ki register aagaye ,saman nikal ke de diye,fir bhi kuch chut gaye to kitchen staff aake lejate hay.



Bhari awaz ki Khim store me aaye aur bola--Ek phynaile de do?Mainey bhi, register maintain karte karte phynaile nikal ke use de diye humne.Phir hosh aye mera ,bola-"A ruko,phynaile tum kya karoge?"phynaile to use karte house keeping wale,a kya karega?Khim phynaile le jate jate ruka,fir bola -"mashroom me dalenge".
-ka bol raha bhai?mashroom me phynaile daloge?kisne bola tumhe?mera excise ki khata karna chhut gaye,is dialogue ke saath.Bhari awaz me Khim fir bola-"ha,mashroom dhote hay phynaile se" -
-Abbe,me fir bola- mashroom dhote hay pahele paani aur fir vinigar se,phynaile se nehi .Ab Khim ki muh  me hansi aaya,ha,ha Vinigar do mujhe.
Aaj agar me thoda sa dhyan nehi dete ye use nehi puchta to kya kand ho jate,bilkul- https://www.kakolib.com/2018/12/blog-post_4.html     click ki jiye ek  same kahani, lekin room service ki.
 Hospitality Offered To Every Laborer kitchen,yeni ki Hotel kitchen.

Please comments  and send me your opinion.










Wednesday, June 5, 2019

3 predictions about the future of a kanjoos(a miser)

3 predictions about the future of a kanjoos(a miser)

3  predictions about the future of a kanjoos(a miser)

5 predictions about the future of a kanjoos(a miser)
sukha ped par mitha paani dene wala

   1 )   ये 3  पॉइन्ट में बता रहा हु , हर  कंजूस की भबिस्य के बारे में ,मिला लेना आप सही है की नहीं ,आप ही बताना ठीक बोले की नहीं ?बरिन सर हमारे स्कूल के इंग्लिश टीचर थे ,और हम सभी के इंग्लिश बिषय में हाथ तंग होते है। घर वाले उनके पास भर्ती कर देते टूशन पड़ने के लिए। सुभे 6 बजे उनके घर जाना पड़ता था ,घर में उनके कोई नहीं थे,अकेले ही रहते थे वह ,लेकिन घर था बिलकुल टिप टॉप  ,सर  आपने हाथो से सब करते थे ,सर की बीवी बच्चे मिदनापुर रहते थे। हमने देखे पढ़ाते  पढ़ाते  अचानक वह उठ जाते थे ,फिर पांच साथ मिनट में वापस आ भी जाते ,कुछ दिनों बाद पता चला -उनकी बगल वाले किरायेदार जब कपडा धोते थे तो ,वह आपने कपडा,शर्ट्स  बाथरूम की नाले के पास रख देते थे ,नाले से जो साबुन पानी बहते थे -सर उसीमे से आपने कपड़ा धोते थे ,सुना है सर, सर्दी में पकोड़ा खरीद  के ,उसको तेल निचोड़ के , लगाते थे आपने बदन में !उनकी जमा हुआ सारा पैसे में उनकी ,कंट्रक्टर दामाद अयेस की !!



2 ) हीरा लाल बोसे महासय की दुकान है मिठाई की ,बहुत ही पॉपुलर हैHowrah  में.दूर दूर से लोग आते शादी में मिठाई ले जाने के लिए। क्या सेल था ,हीरा बाबू खुद बगैर अंडर पैंट  के कपडा पहन ते थे ,और उनको जो सेल्स मन था गणेश -वह भी बाबू के चेले थे ,अचानक एकदिन बाबू गुजर गए ,उनके भतीजा निकल दिए गणेश को ,भतीजा बोलता था की सुवे शाम अगर सफारी सूट चेंज न करे तो घिन आते उनकी! भतीजा आज काल रंग निकला हुआ सफारी पहन के चाय की  स्टाल खुले है बाजार में ,हीरा बाबू जो कर गए थे ,भतीजा उड़ाने  में ज्यादा टाइम नहीं लिए !ये 3  पॉइन्ट में बता रहा हु , हर  कंजूस की भबिस्य के बारे में ......


3 ) काशी नाथ पाखिरा  हमारे होटल की किचन स्टुअर्ड हे ,मेरे आने से पहले से वह इंहा  काम कर रहा है। कंजूसी की वर्ल्ड  रिकॉर्ड की तरफ   जा रहा है  वह ,ऐसे कहते है  बाकि सरे लड़के। उनकी जूता पिछले 6  साल एक मॉडल की हे। ऑफिस यूनिफार्म उनकी अंग की सोभा बढ़ा रहा  है -पिछले 6  साल से ही ,ऑफिस से घर और घर से ऑफिस उनकी ट्रेवलिंग एरिया हे। बीवी ने अगर कभी कहा --"हम कब तीरथ यात्रा करेंगे ?जब से आये आपकी घर,  तबसे बहार की मुँह नहीं देखे ?कम से कम पूरी तो ले चलो ?" कशी बाबू बोले -"आरे  पगली !
भगवन तो मन में है ,बहार जाने की जरुरत है ही नहीं। कशी दादा की बीवी अहिष्ठा से बोली "शा..... कंजूस। "
जब भी किसी साथ में काम करने वाले दोस्त की शादी में जाने के लिए नेवता मिलते ,रूपया देने की डर  से- पहले ही उसके कुछ पर्सनल घर के काम पड़  जाता था? बेटे ने उनसे एंड्राइड फ़ोन मांगे तो बोलै -"तुम बुरा आदत मत डालो में,हेल्प नहीं कर पाउँगा। बॉटम वाला फ़ोन लेलो ,बाते  करने के लिए मस्त है वह।

 "ये 3  पॉइन्ट में बता रहा हु , हर  कंजूस की भबिस्य के बारे में ......लेकिन जब ,बिरजू की बीवी की ब्लड कैंसर हुआ ,बिरजू हमारे होटल की स्टाफ हे ,हम सब आपने तन्खा से 200 ,500 ,1000 रूपया करके दे रहे थे ,कंजूस काशीनाथ -आपने पूरा सैलरी दे दिए ,बोले सर बिरजू की एक छोटी बेटी है ,अगर उसका बीवी को कुछ होगये तो ,उसकी देख भल कौन करेगा ?मेरे बीवी ने बोलै ,आप बिरजू को पूरा सैलरी दे दो ,जमा हुआ पैसा जितना है मेरे पास, उतने में घर चला लेंगे। काशीनाथ कंजूस सैलरी छोड़ दिए किसी बच्ची की माँ के जान बचाने के लिए। 
  The back office story of the hotel industry teaches me don't predict anyone.  


Please submit your valuable opinion for this post and subscribe to my Blog also.




  

Wednesday, May 29, 2019

वोः कौन थी ?

वोः कौन थी ?

                                                            वोः कौन थी? 



free image of a girl with white saree in a smoke এর ছবির ফলাফল
वोः कौन थी ?
     कौन कौन आपमें से सोच रहे हो की ये एक हिंदी फिल्म की कहानी है,वह हाथ उठाइये ! नेई ,नै भाई, में इस बारेमें सीरियस हु।  इस मामले में कोई अपोस नहीं ,ठीक है चुप चाप पड़ते जाओ , फिर बुरा  लगे   तो कमैंट्स बॉक्स में चार गालियाँ  डाल दीजिये , लेकिन पहले आप सुनो मेरी एक्सपीरियंस। पश्चिम दिल्ली की एक स्टार होटल , जी है , में जहाँ सालो साल नौकरी की ये वही होटल है।उहा की ,एक रात की घटना है ,वोः कौन थी ?

  धुआँ धार बारिश और साथ में ओले गिर रहा है चार- बार ,चार- बार करते हुऐ। हम डेल्हीवाले खुश इस गर्मी के मौसम में इतना बारिस आने पे !दोपहर को सुरु हुआ बारिस ,फिर घंटा बाद से सुरु हुआ तेजी से बारिस, ओले बांध होकर। बच्चे खेलना सुरु किये थे ओले से ,बड़े बच्चे उसे किये उनकी पानियो में !बुजुर्गो ने बोलै कितने साल देखे नहीं ऐसे बारिस !पता नहीं कौन सी बारिस उन्होंने बताया ?कही जवानी वाली बारिस की याद आया होगा!में घर नहीं गए इस बारिस में ,ब्रेक में। लंच किया और फिर स्टाफ क्वाटर चले गए कार्ड  पीटने, बाकि लोगो के साथ,पूरा मूड बन चुके हम लोगो की गप  मरने वाला। वैसे तो हम होटल में गप  मरते नहीं ?सिर्फ काम ही काम है हमारे ! कौन हँसा ये सुनके ?हमारे घर पे पूछो पता चलेगा आपको हम कितने काम बाज़ है।

https://www.kakolib.com/2018/12/blog-post_4.html

साम हो गए,  बारिस रुकने का नाम नहीं ले रहा है ,बिजली की कड़क ,बारिस की झुप,झुप आवाज़ चलते जा रहा है- वोः कौन थी ?नहीं भाई  वह तो भीगा हुआ रस्ते की कुत्ता है ?दो चार गेस्ट आये लंच पे ,कुछ आर्डर मिले होम डिलीवरी की ,लेकिन रास्ता ग्रदुअलय बांध हो रहा था पानी के बजा से। लेकिन फुट फॉल गेस्ट की काम होता गए ,जी एम् सर 6  बजे चले गए ,होटल आहिस्ता,आहिस्ता खली हो रहा है। रूम गेस्ट भी बहार नहीं आये तो कॉफ़ी शॉप ,बार ,रेस्टोरेंट भी खली पड़े है।

एक गाड़ी आये ,एक लेडी उतरा उसमे से ,फ्रंट ऑफिस स्टाफ -राज और बिरजू मोबाइल पे बिजी था ----   -एक्सक्यूज़ में
-यस मैडम -
-मेरा बुकिंग था,प्रिय सचदेवा के नाम से --
-जी,माम् ,मुंबई से -
-यस.....
वोः कौन थी ? जो इतने दुरजोग में भी आ पहुचा ?आछा मुंबई की है,फ्लाइट में थी तो पता नहीं चला weather की। चलो एक रूम तो सेल हुए !रात के 8 बजे,बारिस रुकने की नाम नहीं है ,पूरा एरिया सुनसान होगये। नाईट शिफ्ट की स्टाफ आ पहुचे। हम लोग कैसे घर जायेंगे सोच बिचार चल रहा है। खबर मिले तिलक नगर पूरा पानी में दुब चूका ,स्कूटर फटाफट बांध हो रहा है ,सीलेंसर में पानी घुसके,ये इंजन में घुसके। हमारे ड्राप देने वाला कार बोलेरो है ,प्रॉब्लम नहीं पानी घुसने की।
-सर,सुनील हमारे बार इंचार्ज बोले। आज जल्दी जल्दी खाना लगा देते है आप लोगो की ,घर निकल जायेंगे जल्दी हम लोग। हमभी मन ही मन ,एहि चाहते थे, इस फ्लोर की बार   में -में,जी एम् सर और बार इन्चार्जे एहि पे खाना खाते  है।
 https://amzn.to/2M11paT

- भाई ,लगा दे खाना। जल्दी जल्दी खाके भागते है। बार में मुझे बिठा के सुनील गए किचन को मेनू बोलने ,टी भी  चल रहा था,न्यूज़ देख रहे थे हम ,मौसम की जानकारी के लिए ,प्लेन  क्रश हुआ बीच रस्ते में बिजली गिरने पे दिखा रहा था टी.भी में। एन सी के ओ टी में सिग्न कर दी। खाना रेडी करेगा किचन ,फिर रूम बॉय सर्विस करदेगा टेबल में हमारे। जी एम् सर चले गए ,बार स्टुअर्ड लोग डिनर करने गए ,में छोड़  दिए उन्हें। अकेले बैठा हु बार में ,इस फ्लोर में रूम है दो साइड में बिस ,सभी गेस्ट रूम में है। थोड़ा सा मूम्फ़ली लिए और चबाना सुरु किये ,क्या बोलै आपने ?बियर ये ड्रिंक्स किउ नहीं लिया ?सर,में यहां नौकरी करता हु,इनका दामाद नहीं हु भाई !
 बहुत सरे होटल की भूतो की कहानी याद आ रहा है मन में !धीरे धीरे हल्का सा डर मन में आ रहा है। सुना है इस होटल जब बन रहा था तो ,एक मजदूरनी रात को , ऊपर से निचे गिर के मर गया था ,उसने नीद में खली लिफ्ट घर को बाथ रूम सोचा था।  बार की सामने की लिफ्ट की दरवाज़ा खुल गए ,में पसीना पसीना होने लगा,सेंट्रल ए सी में बैठ के ,एक रूम बॉय ग्रीन सलाद और खाना लेके निकल आये,साथ में सुनील भी था।
--क्या हुआ सर,सुनील मेरे चहरे देख के पूछा ?
--कुछ ने ही, घर कैसे जायूँगा सोच रहा था ,
---खाना खा लीजिये ,सींग जी गड़ी में बैठा है। ...
जल्दी जल्दी खाना सुरु कर दिए हमने। आज तो सारा दिन ही गॅप चल रहा है ,इसलिए अभी दोनों ही जल दी जल्दी खाना खा रहा था ,एक एक करके स्टुअर्ड लोग आपने डिनर कम्पलीट करके आ रहा था। जो 8 बजे की ड्यूटी ज्वाइन किये वह सरे ग्यारा बजे ,बार क्लोसिंग करके ग्राउंड फ्लोर की कॉफ़ी  शॉप हैंड ओवर लेगा। खाने की बिच में ,राज फ्रंट ऑफिस के स्टाफ मेरे पास आके बोलै -सर ,मुंबई वाला गेस्ट आपने रूम में है नहीं।
--देखो कफ शॉप ये रेस्टोरेंट में होगा।
--नहीं सर ,कही नहीं है ?
--इतना बारिस में जायगा कहाँ ?होटल में ही किसी कोने पे होगा,साथ में कौन था ?
---कोई था नहीं सर। ..
---लगेज तो था की वो भी नहीं था ?
---नहीं सर ,कोई लगेज नहीं था। .
--तो फिर एंट्री कैसे की ?
--में सोचा बारिस की बजा से लगेज नहीं उतर रहा है,बाद में ड्राइवर लाएगा। लेकिन न तो ड्राइवर आये न लगेज। रिसेप्शन कॉल कर रहा हु रूम ३०३ में लेकिन फ़ोन ने उठा रहा। रूम बॉय भेजेथे ,लेकिन दरवाज़ा खुला है ,कोई अंदर है नहीं।
मेरा खाना रहगया ,भाग दौर सुरु वह लेडी कहा गए ?सभी सिक्योरिटी वाले को बुलाये ,होटल,स्विमिंग पूल,बैंक्वेट की फुल लाइट्स ऑन कर  दी। सभी जगा डुंडा पर वह लेडी हवा में गम हो गए। गेस्ट रजिस्टर में उनका सिग्नेचर भी है।
 पुलिस को इन्फोर्म की ,पुलिस आये।वोः कौन थी ? पूछके  रिसेप्शन वाले को धोया।  वह भी कुछ  पाए नहीं सुराग। जिन्होंने बुकिंग दिए थे वह भी फ़ोन नहीं उठा रहा था। मेरे घर जाते जाते रात के वही बारे बज गए। जी एम् सर को बताया ,वह थोड़ा  आन   कंट्रोलड थे--बोलै काल आके सुनूंगा  भट्टा -------रिसेप्शनिस्ट लोगोको बोलै निश्चिंत रहो कही  होंगे , बारिस में कुछ कभी नहीं पाएंगे काल सुभे देखेंगे ,अगर रात को खबर मिले बे झिजक मुझे फ़ोन करना।

सुबहे  छे बजे  फ़ोन आये ऑफिस से ,में फ़ोन उठा के पूछा राज कुछ खबर मिला ,
--जी ,सर वह लेडी जिस प्लेन में थी वह क्रश हो गए। .
--क्या बोल रहा है?होटल से कब निकला वह ?
----सर मुंबई की शाम की फ्लाइट था ,आपने बेटे को हॉस्टल में देखने जा रही थी ,दिल्ली में हमारे होटलनाईट स्टे करके , सुभे बई रोड  जाता। ..लेकिन बीज में बिजली गिरे फ्लाइट में और क्रश हो गए प्लैन। चालिश मिनट के उड़न पे बिजली गिरे थे। टी.भी खुलिये न्यूज़ चैनल दिखा रहा है। ..

फिर रिसेप्शन में कौन आया था ?कौन सिग्नेचर किया था ? वोः कौन थी ?

Please submit your valuable opinion for this post and subscribe to my Blog also.















Wednesday, May 22, 2019

you are selected !

you are selected !

https://www.kakolib.com/2019/05/you-are-selected.html

you are selected



2010  साल ,कोलकाता की  salt lake  में एक रेस्टोरेंट की ऑपरेशनल मैनेजर था में। जनुअरी १२ तारीख पर कोलकाता आये  और रेस्टोरेंट की ऍम डी  से मिले ,उन्होंने बोलै-you are selected"!"उसी दिन से काम चालू कर दिए मैंने। रेस्टोरेंट बिलकुल नया था ,पूरा सेट आप  सुरुकिये मैंने। मालिक ने पूरा छूट दिए -बोले"तापस बाबू आप आपने मर्जी के अनुसर रेस्टोरेंट को सेट आप  करो"। वैसे तो एक दो मशीनरी सेट की और फिर स्टाफ रिक्रूट करना चालू किया। अड़ दिए पेपर में, कंसल्टेंसी कंपनी को रिक्वेस्ट भी भेज दिए। अगले सोम बार  से इंटरव्यू चालू होगी,तिस स्टाफ रिक्रूट करना है ,किचन में  दस  ,तीन केशियर ,पन्द्र स्टाफ फ्लोर के लिए,दो एकाउंट्स ऑफिस के लिए ,सिक्योरिटी था कॉन्ट्रैक्ट की । एक शो  बिस कवर की रेस्टोरेंट है ,फर्स्ट फ्लोर  में। ग्राउंड फ्लोर में है फिफ्टी पैक्स की छोटा बैंक्वेट हॉल। किटी पार्टी या स्माल गाथारिंग के लिए।
इंटरव्यू सुरु हुआ, तो दो दिन में पूरा स्टाफ नियर अबाउट रिक्रूट हो गए,लास्ट डे था तीसरे दिन बुधबार ,अचानक एक cv आये हमारे पास , मुझे  सर बोले-"तापस बाबू देख लीजिये ,हो सकता है सबसे बढ़िया एहि होगा,you are selected ,हिम "। सर बहुत ही पॉजिटिव भाबना  के थे ,जितने दिन में उनके साथ रहा उतने दिन मेरा भी पोसेटिव नेस बार गए थे। पियोन को बोलै "इस बन्दे को भेज  दो अंदर। 'पियोन बहार गए उस कैंडिडेट को भेज ने के लिए ,तबतक में और सर चाय पे सिप लगा रहा था ,आवाज़ आये ,"मई आई काम  इन सर 'बड़ा  प्यारा सा आवाज़ था!में दरवाज़ा की तरफ देखा तो नज़र आये एक बाइस ,तेइश साल  का लड़का ,काम इन ,लड़का कुर्सी के पास आये, बोलै -में आई  सर?ओह yes ।  बैठा ,उसकी मुँह पर हल्का सा हंसी लगे है। सुरु हुआ इंटरव्यू -
-क्या नाम आपका ?में पूछा-
-",विजय रॉय ,सर।'
-ए आपकी पहला जब ?
-ने ही सर ,ये दूसरा जॉब है।
-तो पहले  वाला छोड़ रहा हो  किउ ?
-सर यंहा से मेरा घर   नज़दीक है। मेरा पेरेंट्स अकेले रहते है घर में ,इंहा  जॉब मिल जाये  तो ,उनको सहारा मिल जय गा। में भी जान पाए की में नजदीक हु ,उनकी --
-sir ,इशारा  किये मुझे ,सर हिला के। में ग्रूमिंग और hygine  की ऊपर जोर देता  हु ,लेकिन इसकी बाल  तो थोड़ा बड़ा  है ,
-में बोलै-बाल  काट के आना विजय।
-जी सर।
-कोंग्रटुलशन ,यू अरे सिलेक्टेड 

https://www.kakolib.com/2018/12/blog-post_4.html

पूरा स्टाफ के साथ रेस्टोरेंट फुल चालू हो गए और धीरे धीरे रश भी आने लगे। 2010 में, ए रेस्टोरेंट ,इस एरिया में  अकेला था ,ये ब्लॉक तब डेवेलोप पूरा कर चूका था ,थोड़ा सा प्रमोशन जैसे मैंने किये ,भीड़ चालू।   बाकि लड़के के साथ , विजय काम कर रहा था,लेकिन उसकी बाल , बच्चन की तरा  था,बीच बीच में टोकता था में  ,
-विजय बाल  तेरा और छोटा कर।
फिर काम के प्रेशर में भूल भी जाते थे। विजय पॉपुलर हुआ था रेस्टोरेंट की guest  के पास। उसकी मासूम सा हंसी ,सब के दिल जीत लिए ,धीरे धीरे ,एक एक सब्द बोलता था ,ख़ुशी से काम करते थे ,रात के क्लोसिंग  की टाइम में भी, वह उसका हंसी भूलते नहीं थे। हम हैरान थे की सब स्टाफ के बिच थोड़ा बहुत आना तानी लगे रहते थे ,लेकिन विजय के  किसी के साथ था नहीं।  मेरा गुस्सा संत हो रहाथा ,विजय के मुस को रहत के लिए। छे महीने के अंदर उसकी सैलरी भी बड़े। छे महीना में तीन बार उसे में बोलै-यू आर  सिलेक्टेड ,स्टाफ ऑफ़ द  मंथ!
अच्छा चल रहा था रेस्टोरेंट। मालिक और स्टाफ दोनों ही खुश था। एकदिन पार्टी ख़तम  हुआ रात के डेर बजे, मालिक की  शादी का साल गिरा था ,रात तक पार्टी चले। फिर हम लोग फ्री होते होते दो बज गए थे। किचन स्टाफ और बाकि स्टाफ  को पहले ड्राप दिए ,में विजय को बोलै -"तुम मेरे साथ जाओगे ,थोड़ा रुक जाओ" . 
विजय बेलघाटा में रहते थे ,मेरे घर जाना पड़ता उधर से ,तो मैंने उसको साथ ले लिए।गाड़ी में पूछा -
- विजय तुम्हारे घर माँ बाबा के साथ और कौन कौन रहता है ?
-और कोई है नहीं सर ,में और माँ ही रहता हु। 
-तुम्हारा पिताजी ?
-वह ,पांच साल पहले गुजर चूका। बैंक के स्टाफ था वह। 
-तुम्हारे माँ अकेली रहती है ?
-जी सर ,तभी तो आपके रेस्टोरेंट में जॉब लिए मैंने। 
-आरे ,मेरा रेस्टोरेंट थोड़े है ,में भी तो तुम्हारे तरह उनके  के एम्प्लोयी हु। 
-सिंह जी ,बाये तरफ मेरा घर ,यहां  छोड़ दो तोभी चलेगा ,मुझे बोले सर चलिए ना ,मेरा घर देख लेंगे ,
-इतने रात को ?माँ तुम्हारे सोये होंगे ,फिर कभी -
-में जब तक घर ना पोहुंचू ,तब तक माँ खड़ी रहती खिड़की के पास। 
-क्या कहे रहा है तुम ,उनको बोल्दो की सोजाये   आप ,जब हम आएंगे तो घंटी बजाते दरवाज़ा खोल देंगे। 
-में बोला ,लेकिन वह सुने नहीं। कहते है की अगर में नीद में पर  गए, तो तू बहार रहे जायगा।
में हंस पड़ा ,उसकी बातो में। मेरे घर में भी एक ही कहानी ,इसकी माँ और मेरा  तो माँ और बीवी दोनों जगे रहता ,जब तक घर न पौहचु में !हम नौकरी करते है पैसे के लिए और हमारे घर वाले झेलते रहते उसके लिए। 
विजय साथ में चल ही पड़ा उसकी फ्लैट की तरफ। फाइव स्टोरिएड बिल्डिंग की निचे वाला पोरशन विजय और उसकी माँ की फ्लैट है। गर्मी के टाइम ,विजय की माँ खड़ी थी खिरकी के पास ,रूम के अंदर लाइट जल रहा है। बाकि बिल्डिंग पूरा नीद में खो चूका था। विजय को देख ते ही ,उसकी माँ की मुँह पे हंसी आये और दरवाज़ा खोल दिए उन्होंने।

https://amzn.to/2LZhcXz

-आइये सर। 
घर था वेल पेंटेड कलर फुल ,dinning बड़ा था ,एक सोफे में बैठा ,विजय उसकी माको इसरा में बोला -हमारे रेस्टोरेंट का मैनेजर है। 
-विजय- में बोला ,माँ के साथ मजाक हो रहा तेरा। उसकी माँ की अलग सा एक पर्सनालिटी  था ,देख के लगा ए माँ बेटे बहुत ही अलग है ,सबसे। माँ और बेटे की मुँह में हंसी लगे ही रहे हमेसा। घर टिप टॉप डेकोरेशन और साफ सुत्राः  है ,घर में एयर कंडीशन भी है,47 इंच का टीवी ,ये फॅमिली ऊपर क्लास की होगा। फिर ये रेस्टोरेंट में स्टुअर्ड की नौकरी किउ करता है ?सोच टुटा विजय की बातो से -सर कॉफ़ी ये ठंडा कुछ लेंगे ?उसकी मा ,मेरे तरफ हँसते हुआ देख रहा था मुझे। 
-में बोलै नहीं ,नहीं इतने रात को कुछ लेना नहीं है ,थोड़ा ठंडा पानी दो और में चला। उसकी माँ एक गिलास पानी और बर्फी ले आये।  विजय फिर इशारा में उनको बोला ,टेबल में रख दिए उन्होंने। में अब गुस्से में देखा विजय की तरफ ,उसकी चेहरे पे पहेली बार में उदासी देखा ,बोला-
 -सर मेरा माँ गूंगी और बाहरी है।
 मुझे बिस्वास नहीं हुए ,विजय उसकी माँ की मुँह आपने तरफ हाथ से खिंचा और बोलै-
- माँ आज तक मुझे विजय करके नहीं बुलाये सर ?
उसकी माँ थोड़ी देर के लिए चुप हो गयी थी ,लेकिन पालको मे फिर हंसा ,विजय की गाल में प्यार भरा  चाटा मारा। 
-सर ,में बहार जा नहीं पाते माँ के लिए,अच्छा opurtunity  में छोड़ देते है उनके लिए।  आप मेरे बाल के लिए पूछते थे,हमे बुरा लगा आपके बाते सुन  नहीं पते ,कारन एहि है सर --
में सोचा, माँ बोल नेहो पते तो बेटा , बाल किउ ज्यादा रखा ?
विजय अपना कान की ऊपर से बाल हटाए और छोटा सा रिंग जैसे दिखाया मुझे। 
 -में सुन पता  कम ,हियरिंग ऐड  मेरे लिए काम करता ,लेकिन माँ जनम से सुनता नहीं  ... 

मुझे घर छोड़ने  ऑफिस  की गाड़ी तेजी से चल रहा है। तेज हवा आ रहा है सेकंड ब्रिज के ऊपर।  अपाहिज पेरेंट्स की सेवा करने के लिए  विजय -you are selected एस , सुसंतान। ........ 






-

Wednesday, May 1, 2019

Tandoori chiken..Tandoori

Tandoori chiken..Tandoori

                   Ek payr wala Murgi !Tandoori chiken.    

Tandoori chiken..Tandoori
Ek Payrwala Murgi.Tandoori chiken

   
Vocational Training suru ho gaye the mera.Air Port   Ashoka hotel  me mera training suru hua tha,Six months ke schedule tha,do, do mahina karke.Front office,Srvice aur Production. Isko maine schedule kar liye -ek mahina ,ek mahina front office aur service baki char mahina production.Service ki period chal raha hay ,saat din hogaye inha pe,achcha khasa set kar liye hum logo ne .Mere saath hay Pankaj
Dulare .Same duty roaster hay dono ki ,senior logoki pyar hume khush kar diye.Sab Senior captain aur baki staff ki sangat  me bara maza de raha tha hume ,service aachcha lag raha tha,achcha laag raha tha hotel industry me pahela kadam.



Aise hi khusia bhare ek din---Lunch time ,dus me se paanch table chal raha tha---Pankaj ek four pax ki Sarder ji ki table dekh rahatha,may tha egara number table me,do guest the woh bhi Bengali.Senior logo ko Lunch karne chor diye humne,hum char hay floor me!Woh log aane ke baad hum charo jayenge lunch karne.Flicking collection achcha hi hua tha humare,lunch aaj jam jayga!Mere table ka order utha liye,Tandoori roti,tandoori chiken full(us time pe,sasta tha Chiken.),raita aur green salad,Beer ke bhi order tha,mumfali  ke saath serve kar  diya tha me,ki achanak sor utha -Pankaj ki table se--OYE,OYE!e kya baat hay!E murga to handi caped tha!oye ladka idhar a,Pankaj ko bulaye Sarder ji ne..."

-"Excuse me ,sir kya hua"?
-"aar a e murga to handicaped hay",Pankaj ki samajh me nehi aaye ,kya kahe na chahata hay Sarder ji,usne fir bola -kya hua sir?
-"kya hua,e dekh murga ke ek tang tha,full Tandoori chiken order kiye aur tu laye ek leg piece ,ke saath full chiken?A murga pakka langda tha,nehi to full Tandoori me ek leg piece?
 Dusre table se mere samajh aa gaye ki Pankaj Leg piece uda diye,socha nehi ki full Tandoori lene wale do leg ke liye hi full order karta hay.Sarder ji-gala ooncha kar raha tha,Pankaj ghabra gaye.Hum abhi abhi Hotel industry me aaye ,knowledge nehi hay ki-Tandoori chiken me do leg rahene ki Mahatto kya hay.Ab kya hoga---tera kaliya?Pankaj thora dark sceen ke hay.

Sarder ji ki oonchi awaz abhi aur bar raha hay'"abey ye hotel me full tandoori chiken serve ho raha hay Ek payr ke saath,handicaped chiken serve karta hay."...Manager ko bulao,Call the Manager(iske baad kitne hajar bar ye suna ,ki call the manager.)Pankaj nervous hoke restaurant ke Manger sir ko bulane chale-me jaldi se, mere tandoori chiken ki order place kardi kitchen me,KOT deke bola sharma ji- tandoor cook ko -Dada mera order jaldi mar do,ek piece extra leg dena,please dada manage kar dijiye.Dada bhi jaldi se mera tandoori chiken full ready kardi,tension me hu Pankaj ka kya ho raha hay?

 Humare inha snacks serv hota hay hot platter me.Lakdi ki base ke upor iron ki plate hota hay,Us plate ko garam karke,lakdi ki upor rakhte hay,phir bandh gobi ke patta,saja ke item dete hay.thoda sa makhkhan ye ek ice cube dal dete hay usme,dhua nikalte hay,serve hote hay aise,Guest yis tarika ko bahut pasand karte hay.

Snacks leke ander aaye,dekha Manager sir khara hay Guest ke paas aur bali ke bakra jaise khara hay Pankaj,Sarder ji same bhasan de raha hay-Manager saab aap ke yinha Ek taang wala murga bechte ho ?a dekho maine abhi tak khaya nehi...Ek taang wala murga aapne kabhi dekhe ho ?me side me se ja raha tha,dhua nikalta hua platter haath me leke,khara ho gaye jhatak se hum,aur "bol diye nehi sir ji,ek taang wala murga to kabhi dekhe nehi humne,saath me teen taang wala murga bhi nehi dekha sir,"Sarder ji bola,-" kya matlab?A dekhiye,me dhire se bola-mere platter me bhi full tandoori chiken hay ,lekin leg piece hay teen tho!To iska mat lab ye thodei hay ki a murga teen taang wala tha?Dhua nikal ta hua platter se ,Tong me pakad ke, ek piece leg utha ke unki platter me daldi.-"sir aab dono murga ke hi taang do do ho gaye,sir galti se mere platter me ek piece leg jyada aur aapki platter me ek piece kam ho gaya tha,jald bazi me,please maf kar dena ,me jara mere table me ye snacks serve kardu,Chiken thanda ho jay ga.."me chal diye mere table ki taraf,Manager sir,pankaj ko bola-" Dekh ke service karo",Sarder ji bhi chup ho gaye aur Tandoori chiken pe dhyan diye.

  Pichle kuch mahino se Pankaj vegetarian ban gaye aur me Sharma ji ko ek chota sa bottle de diye banquet ke party se arrange karke!