Wednesday, September 4, 2019

हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज के चमकीले सितारा


हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज  के  चमकीले  सितारा 


https://www.kakolib.com/2019/09/blog-post.html



ब्रिटिश  रूल्स में जो बुराई था उसकी अगेंस्ट में  भारतीयों  ने प्रतिबाद  किया।  किसीने  सत्य ग्रह की,तो किसीने अनशन किया ,किसीने प्रतिबाद की ,हाथ  में लेके बन्दुक। हर कोई अपना प्रतिबाद किया  था,अपना तरीका से। हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज के सबसे आलोकित नक्षत्रो की जनम हुआ ,इसी प्रतिबाद के रूप में। ब्रिटिश  के निर्लाज और अमानबीक  कानून को झटका  दिए  थे।

Nusserwanji मुंबई के वाट्सन्स होटल्स में गए थे ,लेकिन उनको घुश  ने नहीं दिए। WATSONHOTELS था यूरोपियन गेस्ट के लिए ,इंडियंस अरे नॉट अल्लोवेद  !अब  है - NUSSERWANJI की प्रतिबाद करने की शुरुआत। उन्होंने मन ही मन तैयार हुआ एक होटल बनाने को। जो  बढ़िया होगा मुंबई में। लंदन ,पेरिस ,फ्रांस में से  खुद जा के सामान पसंद करके लाये थे ,होटल को सजाने के लिए।

1903 के 16 दिसम्बर सुरु हूआ -Taj Hotels मुंबई में अरेबियन समुन्दर  के सामने,  NUSSERWANJI  होटल मालिक होने के लिए होटल नहीं बनाये थे ,मुंबई में लोगो को attract करने के लिए और मुंबई को पॉपुलर करने के लिए होटल business  में उनका प्लान था। अब तो आपको मालूम हो गया की उन का पूरा नाम--Jamsetji  Nusserwanji Tata उनका नाम है। भारत कि कामयाब   बिज़नेस मैन में गिना  जाता उनको,और सिर्फ भारत ही किउ पूरा बिस्वा उनको जानते है।

में होटल इंडस्ट्रीज के साथ जुड़ा हु इस लिए उनका हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री की ऊपर जो दान है उसका ही चर्चा करूँगा ,वह भी मुझे संका है कि में  कितना सही सन्मान जनक भाब में  उनके बारे में बता पाऊँगा। वह इतने बड़े है और में इतना छोटा हु डर  लगता की कही कुछ चूक न हो जाये !एक बिशाल सामरज्यो की  सुरुवात हुआ मुंबई समुन्दर किनारे से।


हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में जमशेतजी टाटा ने अपने Tata ग्रुप को उतारा। शुरू हुआ ताज ग्रुप की। होटल चैन बनाना  वह शुरू किये। मुंबई ,दिल्ली,चेन्नई ,बैंगलोर ,हैदराबाद और लास्ट में कोलकाता। सभी मेट्रो सिटी में ताज ग्रुप की होटल है। कोलकाता में बने सबसे लास्ट में --1989 में ,होटल ताज बंगाल नाम है उसका। ताज ग्रुप एक अकेले ग्रुप है जो सभी मेट्रो सिटी में अपना होटल चैन बनाया। 

Taj ग्रुप शुरू किया था रॉयल पैलेस को होटल में कन्वर्ट करना 1970 में। उदयपुर का लेक पैलेस ,हैदराबाद की फलक नुमा  पैलेस,जयपुर का रामबाग पैलेस,उम्मीद भवन पैलेस योध पुर के। इन सभी पैलेस को रॉयल होटल में परिणत किया टाटा ग्रुप ने। एक होटल जो 5 किलो मीटर लम्बाई में है ,आप सोच सकते हो उसकी मैनेजमेंट कितना स्मार्ट है ? फोर्ट अगुडा बीच रिसोर्ट गोवा के सबसे पहला इण्टरनॅशनली ५स्तर डीलक्स बीच रिसोर्ट है,शुरू हुआ 1974 .. 

1980 में ताज ग्रुप शुरू किया इंडिया के बहार होटल बनाना। Taj Sheba Hotel तयेर हुआ yemen की sana में। Taj 51 बुकिंग होम गेट सुइट्स। Taj group  शुरू किया वाइल्ड लाइफ lodges की लंदन में। ताज ने हॉस्पिटैलिटी सर्विस को सर्विस इंडस्ट्री में मशहूर कर दिए। इंटरनेशनल  बहुत अवार्ड इनको मिले हैं इनकी  -सर्विस,hygine और मेंटिनेंस के कारन। किस्मत वाले वह है जो टाटा ग्रुप में सर्विस करे। 

IHCL टाटा ग्रुप की होटल मैनेजमेंट कॉलेज है जो 4 साल के होटल मैनेजमेंट पढ़ाते है ,UNIVERSITY OF HUDDERSFIELD,यूनाइटेड  किंगडम  की एजुकेशनल सपोर्ट से। टीम में ज्यादा से ज्यादा होते है HOTEL MANAGEMENT  बैक ग्राउंड की। एक्सपीरियंस और एजुकेशन की मेल बंधन से जो स्टूडेंट निकलते है वह अनमोल होते है हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लिए। 

'लीडिंग होटल्स ऑफ़ थे वर्ल्ड' की 10 मेंबर्स में से टाटा ग्रुप नंबर one  है। 116 साल के अंदर ,इनकम है ताज ग्रुप 100 होटल्स बना चूका। 15 मिलियन डॉलर के आस पास इनकम है इस ग्रुप की। टोटल रेवेन्यू है 600 मिलियन के बराबर। भूटान ,मलेशिया ,ज़ाम्बिया,UK,USA,UAE,श्री लंका ,साउथ अफ्रीका ,नेपाल में ताज ग्रुप की होटल है। 13000 हज़ार से भी ज्यादा लोग काम करते है ताज ग्रुप ऑफ़ होटल्स में। 

ताज ग्रुप सर्विस इंडस्ट्री को एक  रेस्पेक्टेबले इंडस्ट्री में परिणत किये। होटल इंडस्ट्री ,हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के साथ समो गोत्रीयो होगये इनके ज्ञान,मेहनत और उच्चाकांक्षा के कारन। ब्रिटिश को उन्होंने आपने तरीके से सिखाया की इंडियन कमी नहीं है उनके बरा बोरी में। एक क्वाताशन उधर लेते है हम और कहते है इनके बारे में ---'FROM PARSEE PRIEST TO PROFITS 'ताज ग्रुप के 
बारे में सही लागू होता है। 





Wednesday, August 28, 2019

motivation and emotion of a hotel industry staff

motivation and emotion of a hotel industry staff


motivation and emotion of a hotel industry staff. 

एक होटल उद्योग के कर्मचारि की प्रेरणा और भावना.


-'सर ये मेरा क्या हो गये सर ? बिरजू रोते हुआ पूछ रहा है मुझे।
-'आ रे ,बिर्जु रोना बंद करके येतो बताओ ,हुआ क्या?'
-'सर ,मीता को ब्लड कैंसर हुआ ,डॉक्टर बोल रहा है'...
बिरजू मेरा जूनियर है ,इस होटल में। में कोलकाता के इस इटलियन होटल में काम कर रहा हु पिछले चार साल। होटल इंडस्ट्री में बहुत ही नाम कमाए है ये। पैकेज अच्छा ,सबसे बड़ी बात होटल चलता है फोरेनर मालिक कि बनाया नियम में ,जो की फॉरेन कंट्री में लागु है ,उसकी तरह ही।



बिरजू की बीवी पिछले हप्ते से बुखार में भुगत रहा था। नर्सिंग होम दिए थे ,डॉक्टर बोले पहले की डेंगू हुआ,ब्लड सेल कम होगये। ट्रीट मेन्ट चालू किया ,डिटेक्ट हुआ ब्लड cancer जैसे खातिर नक् बीमारी।सुनते ही बिरजू टूट पड़े। दो साल की बेटी भी है उन दोनो की। साथ में बुजुर्ग माँ और बाबूजी। मीता diagonosis सेण्टर में काम करता था।

बिरजू की फ्लैट है कोलकत्ता दक्षिण में। मेरे ज्वाइन करने से पहले ही उसने शादी किया था। जोड़ी खूब सूरत है ,जिस कारन उन्दोनो के बच्चे भी बहुत ही सूंदर है। बिरजू सदा हंसमुख था ऑफिस में। मीता की मई के है ,कालीघाट की तरफ। माँ,बाबा है नहीं। एक भैया और भाबी है उसका।



service industry की लड़ाई


बिरजू दूसरे दिन ही ऑफिस आये। हम सब G.M को रिक्वेस्ट किये उसकी छुट्टी के लिए। में रिस्पांसिबिलिटी लिए हमारे डिपार्टमेंट की। बिरजू को खुलि छूट दिए कि वह हॉस्पिटल की काम ख़म करके ही ऑफिस आये गा रोज़ ,मेरे ड्यूटी के बाद भी में ऑफिस में उसका काम कर दूंगा। पैसे की हेल्प हम सब आपने सैलरी से करेंगे। M.D भी दिए अच्छा रकम ट्रीटमेंट के लिए। जब भी उसको जरुरत पड़ेगा वह हॉस्पिटल में जा पाएगा।

                              खून की  जरुरत पड़ता है ,इस बीमारी में जल्दी जल्दी। उसका इंतेजुम के लिए बहुत सरे ब्लड डोनेशन कार्ड जुगाड़ करदिया गया। लड़के सारे ब्लड डोनेट भी कर दिए। पोची बना के देता था हॉस्पिटल वाले और बिरजू भागता था ब्लड बैंक में ब्लड के लिए। फिर एक बाल्टी में बर्फ  की पैकेट रख के और उसके बिच ब्लड के पैकेट रख के ले जाना पड़ता था। फिर वह ब्लड चढ़ाये जाता ,मीता को। 



में बिरजू को बोलै था -बिरजू ए लड़ाई  तुम्हारे और तुम्हारे बीवी की। आश छोड़ना नहीं। डॉक्टर लोग लड़ाई कर रहा ,साथ में तुम दोनों भी करो। फर्स्ट स्टेज में पकड़ा गए बीमारी ठीक हो जय गा। खाना पीना छूट गए थे बिरजू की ,आपने बीवी को बचने की लड़ाई में। उसकी दो साल के बच्ची की देखभाल करता था उसके माँ और बाबू जी ने। छोटी सी बच्ची पूछते थे -'बाबा ,माँ कब आये गा,कितने दिन देखे नहीं माँ को?'


बिरजू ऑफिस में आके  मुझे बताते थे और रोते  था। फिर हम हिम्मत देते -'बिरजू रो मत ,ESI sanctioned  कर दिए। कैंसर हॉस्पिटल में भर्ती हो गया। Dr. गुप्ता बहुत ही नामी  है इस बीमारी के ट्रीट मेन्ट में ,ठीक हो जायगा'। ठीक हो जायगा सुनके बिरजू मेरे तरफ देखता था। -'आबे ठीक नहीं हो गए तो हॉस्पिटल भेजा किउ ,मरने के लिए ?चल जा काम में लाग जा'। में भी पूरी तरह बिस्वास नहीं कर पता था की ठीक हो जायगा  मीता। 



ट्रीटमेंट चालू हुआ ---कोलकाता दक्षिण के ये cancer हॉस्पिटल फेमस है।पूरा भारत से पेशेंट आते इंहा। तरह तरह के कैंसर पेशेंट है इन्हा। केमो देना डॉक्टर चालू किये ब्लड देने के बाद से। धीरे धीरे मीता  के बाल सरे झाड़  गए। आपने बच्ची को मिल ने के लिए रोटा था। डॉक्टर सीधा न बोल्दिए। दो साल की बच्ची भगवन के तस्बीर के  आगे बोलता था माँ को घर भेज दो जल्दी ,जल्दी। त्रेअत्मेंट में असर आना चालू हुआ। और पूरा साल भर के बाद उसको डॉक्टर घर भेजा। हर महीना विजिट करेगा जरूर हॉस्पिटल को। 

बहुत सरे दवाई और नियम के साथ उसको भेज दिए घर। घर में आपने बेटी को वह टच नहीं करता था। बिरजू को नज़दीक आने नहीं देता ,--कहता चेमो की जहर मेरे सरीर में है ,कोई नज़दीक नहीं आओ गे। 
--'बेटी कहता था ,-माँ एक  बार तुम्हारा हाथ टच करू?
मीता jesus को  बिस्वास किया बीमारी के समय ,उसको हिम्मत और ताकत मिले थे उनसे। अब उनको भी आराधना करता है। फ़ोन में मैंने उसे बोलै था --मीता ,रिकवर करने में थोड़ा टाइम लगेगा ,लेकिन हिम्मत रखो खुशिया जरूर लौटेगा। धीरे धीरे उसका हेल्थ ठीक हुआ। सर में बाल उग रहा था फिर से। नार्मल लाइफ में फिरसे सेट हो रहा था बिरजू,मीता और उनके बच्चे। बिरजू की मम्मी और पापा भी चयन प् रहा था। 

हैप्पी एंडिंग ----आज फिर बिरजू और उसकी फॅमिली नार्मल लाइफ लीड कर रहा है। में जान पूछ के उनके नाम चेंज करके इसे लिखा। में देखा था बहुत दिनों तक बिरजू की घर में उसकी रिलेटिव कोई,कोई पानी तक नहीं पिटे थे। मीता  की बनाई हुयी खाना नहीं खाते  थे। डर और अज्ञान हमे कभी कभी मानबिकता भुलवा देते है। डर स्वाभाबिक  है, लेकिन उसे हबी  नहीं होते देना ,नहीं तो जिंदगी की मजा निकल जाते है। 

 बिरजू की बेटी आज छे साल हो गए ,मीता की बाल फिर से लम्बी हो गए। बिरजू एक स्कूटी ख़रीदा ,आपने बीवी और बच्ची को लेकर घूमते है। डॉक्टर के पास अभी तीन महीना में एक बार जाना होता। डॉक्टर साब देखते ही कहते उसे -आरे मीता घर जाओ अब छे महीना बाद आना ,अब तो ठीक हो गए हो !!!!!






Saturday, August 24, 2019

first lady doctor of India

first lady doctor of India
Image result for free image of anaadi bai joshi
first lady doctor of India


ए कहा जाता है की ,हर सफल पुरुष के पीछे एक महिला होती है ,लेकिन आनंदी बाई  जोशी के sucess के पीछे था एक पुरुष ,उनका husband गोपाल रओ  जोशी थे। और आनंदी को first lady doctor of India कर चुके थे। जब पति अपना पत्नी को पिट ते थे खाना मन पसंद न होने की कारन ,तब की समय पे गोपाल रओ डांटते थे आपने पत्नी को पड़ा   न करके खाना बनाने के कारन!


1865 साल की 31 मार्च को यमुना एनी आनंदी बाई जोशी का जनम हुआ था कल्याण में। शुरुआत की जिंदेगी तो अच्छा ही था लेकिन फिर सुरु हुआ थे जिंदगी में एक नया मोड़। इकोनोमिकल प्रॉब्लम फेस कर रहे थे पारिबार उनके। घरवाले सिर्फ नौ साल की उम्र में ही उनकी शादी करवा दिए थे। शादी हुआ थे उनसे उम्र में 20  साल बड़ा गोपाल रओ जोशी से, जो बिपत्नीक भी थे। 

खेलने की उम्र में किसीके घर संभल ने की दाय आ पड़े थे आनंदी की ऊपर। लेकिन गोपाल रओ जी आपने बीवी को पढ़ाने  की खोयाब फाइनल कर चुके थे। 1875 साल में महिलाओ  की पड़ना लिखना बहुत ही बुरा माना  जाता था। उसी समय गोपाल रओ जी आपने बीवी को समझते थे पड़ने के लिये ,समझते थे समाज की बाकि सरे महिलाओ के सामने लिखाई ,पढ़ाई की ख़ूबीए पेश करने के लिए। समाज में आगे आने की नेवता देने के लिए। 

अज्ञान की अँधेरे में हमारे समाज डूबा था उस समय पर। महिला ओ को शिक्षा  तो  दूर की , आपने घर के दरवाज़े  से बहार आने  देते  नहीं थे। आनंदी गोपाल जोशी के लिए भी पड़ना  और फिर डॉक्टर होना बहुत ही मुश्किल था। बहुत ही बाते और मुस्किलो की सामना करना पड़े इस जोशी परिबार को ,समाज  में ज्ञान की उजाला लाने  में। 

14 साल की उम्र में आनंदी बाई माँ बनी थी। एक लड़का का जनम दिए थे वह। लेकिन सिर्फ दस दिन ही जीबित था वह बच्चा। बिना चिकित्षा में बच्चा जिबैत न रहे थे। उस दस दिन की उम्र का बेटा ,आपने माको मोटीवेट कर गए -डॉक्टर बनने के लिए। बेटा  खोने की गम से  आनंदी बाई तेजी से सुरु किया डॉक्टर होने की लड़ाई। और किसी के बच्चा न मरे बिना ट्रीटमेंट में ,और कोई  माँ आपने बच्चा न खो दे। 

 Woman's Medical College of Pennsylvania में डॉक्टरी पड़ना सुरु किया उन्होंने। जिस समय पे कोई भी आदमी नहीं जाते थे बिदेश,धरम छूट होने के डर  से ,उस समय , आनंदी बाई की पति उनको भेज दिए बिदेश डॉक्टरी करने के लिए। आनंदी बाई जोशी दो साल के डॉक्टरी डिग्री लेकर भारत लौटा। भारत के  पहले महिला डॉक्टर बने वही ,आनन्द गोपाल जोशी,MD....... लेकिन 19 साल की उमर में ,बिदेश में पड़ने की समय खान पान की ठीक नहीं था,ऊपर से अमेरिका के वेअथेर भी उनको सूट नहीं कर रहे थे। Tuberculosis (TB) की चपेट वह आ गए थे। 


कोलकाता में पोस्टिंग थे गपोल जोशी की। आनंदी गोपाल यंहा बीमार हो रहे थे जल्दी जल्दी। दुर्बल भी हो रहे थे। जब गोपाल जोशी को श्रीरामपुर में ट्रांसफर हुआ ,तब उन्होंने आनंदी जी को अमेरिका भेजना चाहा फिर से -उनकी चिकित्सा के लिए। किउ की स्वास कि प्रोब्लेम,बुखार और सर दर्द होता था उनको। 

आनंदी गोपाल जोशी ,रिक्रूट हुए  थे Albert Edward Hospital के  physician-in-charge of the female ward में। आपने डॉक्टरी उन्होंने यंहा पे सुरु किये। लेकिन बाद किस्मत भारत बसिओ की इस मोहिवासी ज्यादा दिन बचे नहीं। अमेरिका से मेडिसिन भेजा गए थे ,पर वह मेडिसिन काम न आये। 22 साल की वह होने से पहले ही - गुजर गए ,26 फेब्रुअरी 1887  को। भारत बर्ष खो दिए एक महान नारी को। 

कल्याण में ही वह अपना आखरी स्वास लिए थे। उनकी चिता  भष्मो (Ashes  ) रखा है NEW YORK में। भारत  खो दिए फर्स्ट लेडी डॉक्टर ऑफ़ इंडिया को ,डॉक्टर बनने की एक साल के अंदर। इस great  नारी आजभी हमारे सोसाइटी के सामने ज्ञान की बत्ती लेके चल रही है ,और सभी नारीओ को कही रही है ,आगे बड़ो समाज की अँधेरा दूर करो ,शातो कोटि प्रणाम आपको। 


Wednesday, August 21, 2019

janmashtami 2019

janmashtami 2019
https://www.kakolib.com/2019/08/janmashtami-2019.html
janmashtami 2019

                  जन्माष्टमी 2019


जब मूसलाधार बारिश हो रही थी। पृथ्वी को निगल लिया गया था, तब पृथ्वी पर शासन करने के लिए धरती को उत्पीड़न  से मुक्त करने के लिए भगवान विष्णु की धरती पर जन्म लिया। ) हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, सृष्टि के देवता श्री हरि विष्णु के आठवें अवतार,नट खाट नंदा लाला जनम लेते है धरती में। इसी छान  को श्री कृष्ण जयंती या जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

भगवान कृष्ण का जन्म भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। यदि आप आठवीं तारीख को देखते हैं, तो यह 23 अगस्त को जन्माष्टमी होनी चाहिए, लेकिन अगर रोहिणी नक्षत्र में विश्वास करते हैं तो 24 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी होनी चाहिए। आपको बता दें कि कुछ लोगों के लिए, आठवीं तिथि का महत्व सर्वोपरि है, जबकि कुछ लोग रोहिणी नक्षत्र होने पर ही जन्माष्टमी का त्योहार मनाते हैं।इस साल जन्माष्टमी 2019 के शनि बार और रबिबार दो दिन मन सकते हो।

हम भारत वासी भगवन को कोभी बेटा  ,कभी पति ,कभी माता के रूप में सालो से पूजते आ  रहा है। चमत कर तो यही है के, भगवन को भी हमारे चाहत पूरा करने के लिए उसी रूप में आना पड़ा। इसी लिए ,मातारानी आपने माँ की  तरह है ,भगवन शिव पिता ये पति की तरह पूजा जाता ,और भगवन बिष्णू होते है हमारे घर घर के दुलाल। सिर्फ श्रद्धा और भक्ति से मिल जाते है ये महा शक्ति ये ,यही हमारे बिस्वास  है सालो से।

मंदिरो में रात से ही पूजों सुरु हो जाते है ,और सुभे पूजा होते है घर घर में। नटखट नन्द   लाला के लिए छप्पन भोग की आयोजन किया जाते है,मख्खन और मिश्री दिए जाते उस भोग के साथ। पूरी जग्गत नाथ को मैंने देखे है छप्पन भोग रोज़ देता था ,उनके सेवा में। भगवन के भोग देता जब पुजारी ,तब किसी एक थाली में से तीन ऊँगली के बराबर कोई उठा लेता भोग!कहते है भगवन खुद लेते है वह। मिटटी के छोटे हांडी ,एक के ऊपर एक बिठाते है,और अस्चार्जो ए है की ,ऊपर की हांडी सबसे पहले तैय्यर  हो जाते है,ए मेरा आँखों देखा है।

नंदा लाला की प्यारा है उनका झूला। हर कोई उनको एक झूला देते है ,कोई फूलो से बना हुआ ,तो कोई धातु से। श्री कृष्णा जनम तिथि हम मानते है प्यार और सेवा की रूप में। पालन हारी श्री हरि आये थे पृथिवी में प्यार सीखा ने के लिए ,दुस्ट कांगशा को बढ  करके शांति और प्रेम के प्रचार किये थे  उन्होंने।


में बहुत सामान्य जीब हु धरती के ,उनके बारे में क्या बताऊ सिर्फ चार लाइन में उधर कर रहा हु ,कवि रामधारी सिंह दिनकर ने भी कविता लिखी। दिनकर के महाकाव्य 'रश्मिरथी' के तीसरे उपदेश में इस पूरे संदर्भ को खूबसूरती से समझाया गया है। कृष्ण की चेतावनी ’कविता को लोग आज भी पसंद करते हैं। हो सके तो जरूर पूरा कबिता आप पड़ना. .......

यह देखो, आकाश मुझमें है,
देख, हवा मुझमें है,
मेरे विलय को सुना जा सकता है,
मेरे पास दुनिया के लिए एक लय है।
मुझमें अमरता बढ़ती है,
विनाश मुझ में निहित है।

हे जुग पुरुष प्रणाम आपको ,शातो कोटि प्रणाम  आपके चरण में। ये धरती झूम उठे आप के जनम तिथि पे ,पूरा देश  तथा ए धरती आपके आशीष से भर जाये। नंदा लाला आपके मीठी मीठी नूपुर की धुन से ये  धरती को मोहित करे ,मेरे माँ बैठा है मख्खन मिश्री सजा के तुम्हारे लिए ,आजाओ प्रभु ,आ जाओ। .........

Saturday, August 3, 2019

Hotel Store Manager Responsibilities

Hotel Store Manager Responsibilities

 Store Manager Responsibilities

Ek store manager report karte hay apne hotel ki G.M ke paas.store manager ko help karne ke liye hote hay store keeper aur assistant store keeper.Chota sa unit inke,lekin responsibility bahut hote hay.Day to day operation support dete hay store.Purchase, stock aur distributation ye ni ki issue,  store manager's ke responsibility hay.

https://www.kakolib.com/2019/08/hotel-store-manager-responsibilities.html
Hotels store ke staff bhi ladies aur gents koi bhi ho sakte.Through requsition ke store goods distribute karte,purchase order ke through purchase karte hay.bill receive karte proper file up karte aur sabse jyada karte hay inventory.Pahele manualy kar lete hay aur fir total manual work ko system me dal lete hay.F&B controll kiya jate hay inha se bhi.

1)Responsible for food and bevarages stock aur saath me daily operational stock ke bhi.

2)Responsible for daily storage facilities and hygine maintain.

3)Responsible hay jo requirements hay uski saath jo receive kar raha hay woh milna chahiye.

4)Damage goods, brand less product aur less quantity notice kare aur receive na kare .

5)Jo requisition aaye hay woh HOD ki sign ke saath aaye ki nehi woh bhi check kare .

6)Proper entry hona cha hiye store register aur computer system me .
7)MMS -material maintenance management ke through store maintained ho.

8)FIFO -first in first out aur LIFO-last in first out ki system manna chahiye,sakti ke saath.

9)Goods ki batch number aur expiry date register may har month maintain karna hay .

10)Perishable product ko jyada dhyan dena hoga,jaise meat,fish,sea foods,dairy product.

11)Regular physical inventory hona chahiye,aur report karna chahiye FC ke paas.

12)Sabhi bills aur challan ki entry store me hona chahiye aur fir woh bills FC ke jama kare,store bills jama karne ki documents jarur rahe.

13)BIN card product store ke  liye use kijiye.Aap na bhi ho to, naya koi musibat me padenge nehi.

14) Breakage aur expiry, store ke bahar feke FC ke nazar dari me.

Aap ye sare maintain karte ho to sunam ke saath aapna job nibha paoge .store manager ki responsibilities aache tarah pura karoge .5 digit ki salary aapke liye mamuli bate hogi.Ab kuch experience share karte hay aap logo ke saath.

Tab me job liye they store in charge ki,nau ghanta duty hours uske baad sidha ghar.Ek foreigner lady ke, restaurant hay a.store ke assistant they Bengali ek ledka.Usdin duty pouche to dekha restaurant ki owner aa chuke,kitchen me chilla rahi hay,typical purane jamane ki tarah,man me thoda sa taklif hua,kaha new delhi ke star hotel management ,kaha ye owner---

--'you know I want Breast boneless chiken for this polo menu,140 grams to 180 gms per pcs weight,but this is 250gms and its not a breast pcs, I need breast, breast and she shows her own breast.........
usi deen se pata chal gaya tha Delhi 
bakei bahut dur ho gaye.


Dusre incident hua,kuch dinpahele,yis 2019 ki hi ghatna hay.Nami company ki aache brand(?) ki Maida lete hay hum.Maida strain karne ke samay chote chote safed kida dikhay diye.Complain kiya distributor ko,unha se kisi lady ne phone kiya--'
--'sir photo bhejiye kida samet maida ki.'
Idhar kitchen chilla raha hay maida na milne par,maine aapna assistant ko market bhej diye,dusra bakery maida uthane ke liye .unha G.M tension me pad gaye, satur day evening waiting hota humare restaurant me...

Phir phone aye ,maida abhi tak aaye nehi..'sir aapne jo photo bheja usme kida sare thik se dikhai nehi de raha hay'nami brand ke lady hay,me pagal ho raha hu maida ke liye aur ye abhi phone karke puch raha hay kida ke photo thik nehi aaye?
--'aaray ,Madam,thoda wait karo..make up man bulaya maine ,aane wala hay...make up  karke unki photo bhej raha hu'.

Usidin se woh nami brand ko black list kar diye humare restaurant 
ne.New year me itna brochiure bhej te hay bade bade dinga marke,product ghatiya hay,responsibility lena nehi cha hate hay.Kahete hay walnut to mera product nehi hay?may kaise bolu ye kharub ha ye aachcha!Me pucha tha .'.payment aap lete ho- ki us ped ke niche, janha se walnut ate hay unha daba dete ho?'

 Koi, koi vendors aise irresponsible bate kar sakte hay,lekin hum log kar nehi pate,kiu ki hotel store manager responsibilities naam ke ek chheze  hote hay,quality product deliver dena.Hope jo Hotel industry me aapna carrier banane ja rahe ho unke liye ye  knowledge kaam me aayega.








Monday, July 29, 2019

office yoga in 6 easy way

office yoga in 6 easy way
https://www.kakolib.com/2019/07/office-yoga-in-6-easy-way.html
office chair yoga

                   office chair yoga




 Spondylosis ke bare me office me kaam karne wale ko aachchi tarah hi malum hay .dard jo hote hay woh batane wala nehi!aur sharir pura out of control ho jate.kaam me dhyan dena muskil ho jate hay .Subhe bister se utho to halka halka chakkar aana suru.Office jao kursi pe  baitho aur fir jaise hi uthoge chakkar?sar chakra jate hay,dar habi hote hay ander.Chutkara chahiye to  office yoga in 6 easy way practice kijiye.colleagues hasengey?Nehi hasenge, woh inspire hongey aapke saath,guarantee.....

Aath se dus ghante  office me baithna padte hay chair me,aapto hal chalane ye bachcho ki tarah khelne ja nehi payenge?hum sabhi ko malum hay morning walk aacha hay health ke liye,lekin woh aachcha kaam aap karne pate ho ?aapke yis busy life me,answer nehi!fir kya dawai ki upor hi zindegi bita de?Ek mamuli sa chiz,aaj se 5 hazar saal pahele humare desh ke kuch pade likhe gyani o ne abishkar kiye the,woh karo aap bhi  bilkul chustila, furtiwale family man bane raho,again guarantee.....

yoga ki byapti

21june ko Bharat me Yoga divas manay jate hay ,Rastro punj ne bhi ise sikriti diye hay.21 june lamba din hote hay,21 june Yoga divas aapke lambe aayu aur nirog life ke liye bhi .Ab aate hay desk yoga aapke liye ,sirf 6 tho karo 10 minute ke liye,result hatho haath.Office me break time pe kar lijiye,fir aap lunch karo ye snacks lo koi farak nehi padta yaaro!
https://www.kakolib.com/2019/07/office-yoga-in-6-easy-way.html

Now its your break time.10 minute aapke  sharir ke liye.........

  1) Chair ko thoda sa piche lijiye.aur baith jaiye,sharir sidha rakhkho sir.aapna mathe ko dhire dhire upor niche kijiye 3 times.Aab mathe ko anti clock aur clock wise ghumaiye 3 times karke .

  2) Aab kursi ke thoda samne baitho,dono haath panchiyo ki tarah spread kardo aur haatho ki wrist dono twist karo 6 times.

 3) Karke.Fir kursi ke pichey hoke baithiye aur body ki upor wala hissa ekbaar right dusri baar left kijiye 3 times karke.


Sir aap to bahut hi badiye kar rahe ho!chaliye aab dono payer ki tow ek saath me uthaiye aur heel rahega floor me,isko 6 times kare,warm up complete hogaye.sidha baithe ho na aap,to muh bandh kijiye aur

4) Swas lijiye naak se,bandh karo swas,count kijiye man me 1,2,3 aur fir naak sehi swas chodiye.swas bandh karne ke time me aapna rectum ander ki taraf halka sa khichiye ga.6times kijiye is technic ko.


5)Aab sidha baithe huey hi dono naak se swas chodiye,jab swas chodengey to pet ander aayega,swas lengey to pet bahar jayga.isko thoda jyada karna hay,array sir sirf 30times karo isko, baas hogaye.Aab aate hay agla Yoga pranayam me .Its so simple!

  6) Ungli se right naak ko bandh karo,aur left  se swas lo.fir left  naak bandh karo  aur right naak se chodo.aise karke swas lo aur chodo.Kya kaha aapne isko to anulom bilom kahete hay,bilkul thik bol rahe ho sir ,isehi anulom bilom kahete hay.15 times karo isko.ho gaye.baas aapke Yoga practice.Thoda sa paani pijiye jarur!

Sam se hi aapne aapko kuch naya lagenge jarur,5000 saal pahele Bharatiya Rishio ne abishkar kiye the isiko.Ek sunder jiban enjoy karne ke liye!aur hum log kosis kar raha hay usi ko aaj ke bhag daur wala zindegi me rahat pane ke liye,office yoga in 6 easy way yeto bole-office chair yoga practice kijiye, ,swasth rahiye,khushiya batiye.


Mujhe mail bhejiye--tapas1964andul@gmail.com .

Saturday, July 27, 2019

kim kardashian crying in Kolkata

kim kardashian crying in Kolkata


                                    

                                                Kim Kardashian cry at Kolkata

Maine blog likhna suru kiye, hogaye-aath mahina.blog me adsence mile pichle teen mahina ke aas paas .abhi tak ek dollar kama nehi paye ,mistake mera hay ,blog me visitors utna hay nehi.Yis liye ,tension free honeke liye Kim kardashian ke bare me padte raheta hu --Kim  ki bare me likha hua bloggs.....

Dosto ke kahena hay- a mera drama hay umer badne ki.lekin mujhe aacha lagta hay unki struggle ki,bade galti kiye zindegi me ,lekin fir galti sudhare aur agay bare.muh ki hansi mite nehi kabhi bhi.lekin ek baar ye celebrites  bhi row pade the..rukiye mere karan  nehi bhai?

New delhi se aneke baad ,a mera dusra naukri hay .diamond harbour road ke upor ek ghanta jao fir a hotel milega aapko.yis road ke upor kam se kam bis Chota bada Hotel, resort hay .ganga kinare bhi milega bahut hotels,well equipped and modern facilities ke saath,kabhi bhi ghumne aa sakte ho family ke saath, may jis hotel ki resdential manager hu, woh three-star hotel hay .bahut hi famous hay yis area me.

30 deluxe room,Saath me 2 suit hay.restaurant, pool side, gym, even organic spa tak hay yis me.sab jodke 49 staff hay.front office me 5 staff,steward 10 aadmi,room boy 6 jon,kitchen me 12 aadmi.baki 6 saath banquet me.a log direct company ke under hay aur electrician 3 ,baki ho gaye guard log.dusre company se hire kiye hua .

join karne ke baad dhire dhire staff logo se parichay hone lage ,electrician kanchan ko staff room diya gaya,family quarter hay woh,thoda sa rail -way quarter ki tarah hay woh quater. Kanchan aapne biwi ko leke yis quarter me rahete the .


Kanchan ki biwi,naam hay kamini,uski gaon Amtala hay.class ten tak pade hay.adhunik life ke bare me sab kuch malum hay usey .Matlab ek kam pade likhe modern ledki.pata nehi Kanchan ko shadee kiu kiye?ek madhosh presentation uski chehere me hay.Kanchan aapna biwi kamini ko sabke samne bulate the "kim"kahe ke.paan patta jaise uski muh tha,bada sunder tha Kim.


staff quarter jana padte hay Kanchan ki quarter ki samne se ,kabhi kabhi staff quarter me sone jane ki time Kanchan ki biwi ki hansi bahar se sunai dete they.Kanchan ki shagred jyoti hay.maine suna hay ki kanchan ki shadee se pahele jyoti uska sara khid  mat khat ta tha.aab uska biwi ka khat ta hay.nehi to ustad kaam nehi sikhay ga !

Kim gutka khata hay ,supply deta kaun?kaun abar wohi jyoti!ustad ko chupake gutka aur bhi chote mote cheese ustad ki biwi ko supply deta tha jyoti.kaheta tha "ekbar licence ban jaye ,fir kaun sa....mud ke dekhe yis taraf .sir ,dusre jaga bhag jaunga" .

lekin saal jane lage,jyoti ki licence ki exam abhi tak hua nehi !upor se ustad ke liye begar khatna jyada ho gaye.kiu ki kim Ma hua tha,bachche ki dekhbhal uski upor pada,even a bhi sunai diye ki bachche ki kapda kim ussey dhulate hay.Kanchan aaj kaal Kim ki chahat pura karne ke liye bahar bhi kaam karte the.Paise jyada chahiye...

Kanchan ki ghar me uski do char dost bhi aate they,ek tha sunder naam ke ledke.cement, baloo ki dukan tha.Kahete the political contact hay uska,sunder kim ko school ki naukri kar dega bola tha.khud woh do chaar deen me Dubai chala jayga?Jyoti ka kahena tha   ustad woh sunder bhai bara feku hay,'woh agar Dubai jayga to baloo cement kaun bechega ?uski Baap? 

kahani me twist tab aaye jab suna ekdin, ki Kim bhag gaye Kanchan ki ghar chorke!kuch deen Kanchan office aaye nehi,Kim ko dhunda bahut jaga lekin koi khabar nehi mila.Kim mit gaye achanak kanchan ki duniya se.kim uski chey mahina ki bachchi ko chor gaye the aur bache ki dekhbhal pada Jyoti ke upor,Kanchan kuch din daru pike sambhal ne ki kausis ki,lastly ek aur shaade karli!!!

Kim kanchan ki bachchi ko leke quarter chora Jyoti.Jyoti us bachchi ki maa baap hoke pal raha tha.Choti si ledki thodi me hi bimar padte they,jyoti usko aapna sine me chapke hospital le jate the doctor dikhane .Kim aur Kanchan ka koi khabar nehi mila tha hume.

Bada dur tha a hotel aur upor se residential hona pada.aab ghar ki taraf man khich raha tha to Kasba me ek hotel me Manager ki job liya maine .A bhi ek achcha hotel tha ,room the badiya, business bhi badiya hota .Room,Bar,family restaurant tha .Guest tha jabar dast .Corporate business ki upor jor diye maine,maintainence power bada na tha,Electrician lena tha,mil gaye mujhe Jyoti,woh job dhund raha tha.

Kuch dino ke baad jyoti ko pucha maine-"jyoti,Kanchan ki beti ka, kya hua re ?"Jyoti chouk gaye fir sambhal liye."Sir,woh abhi do saal ke hay,ghar me hay sir".
-"kaun dekh raha hay use?"
-"mera biwi sir"...
-'ka bol raha hay ,tera biwi man li?'
-'sir aiye na aaj sam ko ,ghar jane ki time,may kasba jhuggi me raheta hu.'

Usi din hi me jyoti ke saath,uski ghar pohuch gaye,jyoti ki biwi ko dekhne ke liye .dusre ki bachche ko aapna liye,to kaun hay woh,aur kaise hay woh?mera bike bitha ke pohuch gaye.kamre ander ghuste hi mujhe laga jyoti ki biwi ko kahi dekha maine ?lekin yaad nehi aa raha tha ,jyoti ki biwi ghunghat deke mujhe chay diye,uski beti ke liye chocolate,chips le gaye the,woh diye uski nayi Ma ko!


Uski beti bada khubsurat hay,kitna pyara sa mukhda hay,bilkul uski Ma,Kim ki tarah.me bola -'jyoti tera beti to uski ma Kim ki tarah hi sunder hay.'
'ji,sir meri biwi ki tarah hi uska chehera hay.'
me jyoti ki taraf dekh raha tha to ,jyoti bole' sir kim ko pahechan nehi paye?'aab mera nazar jyoti ki biwi ki taraf pada..a kya?a to kim hi hay!!!lekin bahut hi dubla ho gaye,paan paatte ki tarah chehera tut chuka tha....
Jyoti bole saab -'ustad nikal dene ke baad ,beti ko leke yanha unha bhatka,fir ekdin boubazar se aa raha tha to dekha a ,uski biwi ko dikhaye ,row raha hay raste me,bimar tha,woh baloo bechne wala,isko bech ke bhag gaye !bimar pada to nikal diye,un logo ne.may lake hospital me dikha ke thik kiye,beti ko uska Ma mil gaye .Shaadi to nehi ki maine yise,lekin sab ko kaheta hu yehi mere beti ki Ma hay,mera biwi.....rone ki awaz sunai diye mujhe ,jyoti ki beti ki ma row raha  hay.....

Beti ko chor ke bhaag gayi thi aaj row raha ho,Kim?
Nehi, saab row raha hu yis aadmi ke liye,sab kuch janne ke babojood mujhe itna man deta...kim row raha hay,aapne bhul ke liye,aapne bite hua zindegi ke liye........



Please comment ki  jiye.